बांसवाड़ा : चोरी की मोटरसाइकिल का बदल दिया हुलिया, फर्जी नंबर प्लेट लगाकर पुलिस हैड कांस्टेबल लगा रहा फर्राटे

बांसवाड़ा : चोरी की मोटरसाइकिल का बदल दिया हुलिया, फर्जी नंबर प्लेट लगाकर पुलिस हैड कांस्टेबल लगा रहा फर्राटे

deendayal sharma | Publish: Jan, 12 2019 12:16:52 PM (IST) | Updated: Jan, 12 2019 12:16:53 PM (IST) Banswara, Banswara, Rajasthan, India

चेतन द्विवेदी. बांसवाड़ा. चोरों और अपराधियों पर नकेल कसने वाले पुलिस की खाकी वर्दी पर एक दाग लग गया है। चोरी की बरामद हुई बाइक को मालिक तक पहुंचाने या मालखाने में जमा रखने की बजाय हैड कांस्टेबल ने हथिया ली और उस पर रोज सवारी कर रहा है। पहचान छिपाने के लिए उसने बाइक का पूरा हुलिया दिया और असली नंबर प्लेट हटाकर फर्जी नंबर प्लेट लगा दी। इस फर्जीवाड़े की भनक लगने के बाद जब पत्रिका ने इसकी पड़ताल की तो हैड कास्टेबल का काला कारनामा खुलकर सामने आ गया। पड़ताल के दौरान हैड कांस्टेबल बाइक पर फर्राटे भरता मिला और इसके बाद जब इस बाइक के चेसिस नंबर खंगाले तो उस पर वहीं नंबर मिले जो चोरी गई बाइक के थे।

मई 2016 में हुई थी चोरी
सूत्रों के अनुसार कोतवाली थाना इलाके के दाहोद रोड स्थित हीराबाग कॉलोनी निवासी रोहित राणा पुत्र देवेन्द्र कुमार राणा की एक मोटरसाइकिल आरजे 03 एसआर 7143 नंबर 12 मई 2016 को मोहन कॉलोनी घाटी से चोरी हो गई थी, जिसका चेचिस नंबर एमबीएलएचए10सीएएफएचके29020 तथा इंजिन नंबर एच10ईवाईएफएके59663 व मॉडल नंबर 26 नवंबर 2015 व रंग सिल्वर ब्लैक कलर रंग था। इसकी रिपोर्ट राणा ने 17 मई 2016 को दर्ज कराई। इसके बाद पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया। काफी दिनों बाद जब पुलिस बाइक का पता नहीं लगा पाई तो परिवादी ने अंतिम रिपोर्ट के लिए 17 अगस्त 2016 को एक प्रार्थनापत्र कोतवाली थाने में प्रस्तुत किया। इसके कुछ दिनों बाद कोतवाली ने एफआर लगाकर अंतिम रिपोर्ट परिवादी को सौंप दी। इस रिपोर्ट के आधार पर परिवादी ने क्लेम पास करवा लिया।

बाइक मिलने की जानकारी मिली थी
इस बाइक के मालिक रोहित ने बताया कि छह माह पूर्व उसे अखबार के माध्यम से पता लगा था कि उसकी चोरी हुई बाइक जब्त हुई है, लेकिन वह क्लेम उठा चुका था इसलिए बाइक से उसका लेना देना नहीं रह गया और वापस लेने की कोशिश नहीं की। करीब आठ माह पूर्व पुलिस ने अभियान चलाकर बड़े पैमाने पर मोटरसाइकिलें जब्त की थी। इनमें रोहित राणा की भी बाइक थी। बाइक कुछ माह तक तो थाने के परिसर में पड़ी रही। इसके बाद मालाखाना प्रभारी ने अपने रौब के बल पर मोटरसाइकिल को वहां से निकालकर अपने कब्जे में ले ली। उसने पहले तो उसका हुलिया बदलवाया। इसके बाद उस पर फर्जी नंबर आरजे03एसएम0-20 नंबर लिखकर दौड़ाना चालू कर दिया।

अनुशासनात्मक कार्रवाई होगी
मामले की जानकारी नहीं है। वस्तुस्थिति का पता लगाकर कार्रवाई की जाएगी।
तेजस्विनी गौतम एसपी बांसवाड़ा

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned