बांसवाड़ा : लॉकडाउन के दौरान सख्ती के साथ शहर में चला पुलिस का डंडा, 17 गाडिय़ां जब्त, दो गिरफ्तार

Lockdown in banswara, corona virus effects : शहर में जगह-जगह पुलिस बल तैनात, लोगों से घरों में रहने की अपील


बांसवाड़ा. जनता कफ्र्यू के दूसरे दिन सडक़ों पर भीड़ से बने हालात के बाद मंगलवार को शहर में पुलिस की खासी सख्ती रही। दोपहर में इक्का-दुक्का वाहन लेकर निकलते लोगों पर पुलिस ने प्रहार किए, तो सडक़ें वीरान हो गई। इसके बाद शाम ढलने पर फिर लोग बेवजह आवागमन करते पाए गए तो पुलिस ने 17 गाडिय़ां जब्त की। रात आठ बजे तक दो जनों को गिरफ्तार भी किया गया। इस बीच, प्रधानमंत्री के राष्ट्र के नाम संदेश के उपरांत नई रणनीति पर विचार के चलते प्रशासन और पुलिस के अधिकारी जबर्दस्त व्यस्त हो गए। सीआई भैयालाल ने बताया कि शहर में जगह-जगह पुलिस बल तैनात है और संक्रमण की आशंका से बेपरवाह होकर घूमते पाए गए लोगों के खिलाफ कार्रवाई का सिलसिला जारी रहेगा।

कमजोर तबके और जरूरतमंदों को खाद्य सामग्री बांटने को बनाई टीमें : - लॉक डाउन के मद्देनजर कमजोर तबकों, निराश्रितों व जरूरतमंदों को नि:शुल्क राशन बांटने के लिए जिले में उपखंड स्तर पर एसडीओ की अध्यक्षता में संबंधित तहसीलदार व विकास अधिकारी का दल एवं नगर निकाय स्तर पर एसडीओ की अध्यक्षता में संबंधित आयुक्त/अधिशासी अधिकारियों व संबंधित तहसीलदारों का दल बनाकर जिम्मा सौंपा गया है। कलक्टर (रसद) कैलाश बैरवा ने बताया कि ये टीमें जरूरतमंदों को 5 किलो आटा, आधा लीटर खाद्य तेल, आधा किलो नमक, 1 किलो दाल व 1 किलो चावल नि:शुल्क उपलब्ध कराएंगे। वितरण के लिए एसडीओ सर्वे दल के जरिए जरूरतमंद परिवार चिन्हित करेंगे। स्वयंसेवी संस्थाओं व दानदाताओं से सहयोग से पंचायत मुख्यालय या नगर निकाय कार्यालयों पर खाद्य सामग्री के 200 पैकेट का स्टॉक भी रखवाया जाएगा। जो परिवार पकाकर खाने में असमर्थ हैं, उनको तैयार भोजन के पैकेट दिए जाएंगे। सहयोग के लिए आगे आने वाले दानदाताओं से नकद या कच्ची राशन सामग्री भी ली जाएगी।

निजी वाहनों के संचालन पर भी रोक : - जिले में 31 मार्च तक सभी तरह के निजी वाहनों के संचालन पर भी रोक है। इसमें कार्यालयों, दुकानों, संस्थानों/सेवाओं, फैक्ट्री, वर्कशॉप आदि जिनको लॉक डाउन से छूट है, उनके उपयोग के निजी वाहनों के लिए 26 मार्च तक संचालन की अनुमति कलक्टर, एडीएम, एसडीओ, तहसीलदार, डीटीओ एवं एसपी से लेनी होगी। तब तक पुलिस एवं प्रशासन इन वाहनों के संचालन पर लचीला रूख अपनाएगा। कलक्टर ने स्पष्ट किया कि सरकारी अधिकारी-कर्मचारी, जिनके कार्यालय लॉक डाउन से मुक्त हैं, न्यायिक अधिकारी, स्टाफ, चिकित्सक, पेरामेडिकल व अन्य स्टाफ एवं मीडियाकर्मी अपने अधिकृत पहचान पत्र से निजी वाहन का इस्तेमाल करने के लिए अनुमत होंगे। आपातकालीन स्थिति में वाहन का उपयोग करना है तो सीमित समय के लिए अनुमति लेनी होगी।

62 टैक्सी गाडिय़ां अधिकृत, एसडीओ देंगे मंजूरी : - अत्यावश्यक परिस्थितियों में वाहनों की अनुमति के लिए अधिकृत जिला परिवहन अधिकारी अभय मुद्गल ने जिले में 62 टैक्सियों को आपातकालीन सेवाओं के लिए मंजूरी दी है। इनकी सूची उपखंड अधिकारियों को भेजी गई है, जो एसडीओ की अनुमति से ही चलेंगी। मुद्गल ने बताया कि इसके अलावा प्रार्थना पत्रों पर पांच यात्री वाहनों को अनुमति दी गई है। विभाग ने मौजूदा हालात के मद्देनजर जिला परिवहन कार्यालय में नियंत्रण कक्ष (मो.नं.9772189373 ) स्थापित किया है, जो आगामी आदेश तक तीन पारियों में 24 घंटे कार्यरत रहेगा। विभागीय कार्य निष्पादन लिए क्षेत्रवार उपनिरीक्षक जुहारमल मीणा, प्रवीण विश्नोई एवं उपनिरीक्षक तेजपाल उजिरपुरिया को लगाया गया है।

Varun Bhatt
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned