बांसवाड़ा : आधार कार्ड बनवाने का नहीं कोई आधार, यहां से वहां धक्के खाने को मजबूर लोग

बांसवाड़ा : आधार कार्ड बनवाने का नहीं कोई आधार, यहां से वहां धक्के खाने को मजबूर लोग

Ashish vajpayee | Publish: Sep, 08 2018 02:02:49 PM (IST) | Updated: Sep, 08 2018 02:02:50 PM (IST) Banswara, Rajasthan, India

बांसवाड़ा. जिला मुख्यालय पर लोगों के लिए सरकार की ओर से निर्धारित दस्तावेज आधार बनवाना लोहे के चने चबाना जैसा साबित हो रहा है। इस कार्ड के लिए आवेदक को एक से दूसरे स्थान पर धक्के खिलाए जा रहे हैं और इसके बाद भी उसे निराश लौटना पड़ रहा है। इसमें आवेदक का श्रम और समय के साथ जेब पर भी मार पड़ रही है। शुक्रवार को राजस्थान पत्रिका टीम ने आधार कार्ड बनवाने में आ रही दिक्कतों की सच्चाई जानने के लिए पड़़ताल की तो ये हकीकत सामने आई। रिमझिम बारिश में भीगते लोग आधार के लिए भटकते नजर आए। इनमें कुछ को तो नया आधार बनवाना था तो कुछ को आधार कार्ड में त्रुटि सुधरवानी थी। ये लोग कलक्ट्रेट परिसर स्थित अटल सेवा केन्द्र, सुगम एकल खिडक़ी सुविधा केन्द्र, पंचायत समिति से लेकर बैंकों व ई-मित्र कियोस्क के चक्कर लगाते देखे गए। इन्हें एक स्थान से दूसरे स्थान के लिए टरकाया जाता रहा।

अटल सेवा केन्द्र की मशीन ही बंद
पहचान के लिए आधार दस्तावेज सरकार की ओर से नि:शुल्क बनाने के निर्देश दिए हुए हंै। इसके लिए अटल सेवा केन्द्र पर सरकार की ओर से ई-मित्र भी संचालित है, लेकिन यहां मशीन खराब होने के चलते आधार बनाना बंद है और लोगों को आधार दस्तावेज बनाने के लिए अन्यत्र भेजा जा रहा है।

दलाल सक्रिया
आधार बनवाने के लिए जिला मुख्यालय पर दलाल भी सक्रिय हंै। वाले लोग झंझट से बचने के लिए दलालों के झांसे में आ रहेे हैं। वे इनसे दो सौ से ढाई सौ रुपए तक वसूल रहे हैं।

कभी भी जाओ सर्वर डाउन
कलक्ट्रेट स्थित अटल सेवा केन्द्र में ई-मित्र की खिडक़ी पर सादा कागज पर प्रिंट लेकर चस्पा किया हुआ है कि अभी ई-मित्र का सर्वर डाउन चल रहा है। दिन में किसी भी समय यहां जाने पर यही संदेश चस्पा नजर आता है।

दृश्य-1 कलक्ट्रेट परिसर, समय दोपहर 12:16 बजे
रिमझिम बारिश के बीच एक युवकनेसुगम एकल खिडक़ी केन्द्र में प्रवेश किया, जहां कम्प्यूटर पर कार्य कर रहे कार्मिक से आधार बनाने के लिए कहा। इस पर बताया गया कि यहां आधार नहीं बनाया जाता। नीचे पंचायत समिति में जाएं। इस पर वह युवक वहां से सीधा पंचायत समिति के लिए प्रस्थान कर गया।

दृश्य-2 पंचायत समिति कार्यालय, समय दोपहर 12:29
पंचायत समिति कार्यालय में प्रवेश करते ही टेबल-कुर्सियां लगा बैठे कार्मिकों से युवक ने पूछा कि आधार कार्ड कहां बनाया जाता है। इस पर बताया गया कि आधार यहां नहीं बनता। कलक्ट्रेट परिसर स्थित अटल सेवा केन्द्र में बनाया जाता है। उन्होंने उसी भवन की ओर इशारा कर युवक को बताया जहां से उसे आधार के लिए पंचायत समिति भेजा गया था। उस भवन की ओर देख युवक ने जवाब दिया कि वही से तो उसे यहां भेजा गया है। इस पर कार्मिकों ने कहा कि अब उन्हें आगे का पता नहीं है।

दृश्य-3 अटल सेवा केन्द्र, समय दोपहर 1:10 बजे
बारिश के बीच युवक पंचायत समिति से दौड़ लगाता हुआ अटल सेवा केन्द्र पर पहुंचा। उसे यहां सन्नाटा सा नजर आया। अधिकतर कुर्सियां खाली नजर आई। सुविधाओं के पास केबिन में ई-मित्र लिखा देख उस ओर गया। वहां कम्प्यूटर पर कार्य कर रहे कार्मिक से आधार बनाने को कहा तो जवाब मिला कि यहां आधार बनना बंद है। अब यह जिम्मेदारी बैंकों को दे दी गई है। उन्होंने आधार बनाने वाले बैंकों व स्थानों के नाम भी बताए। मन में निराशा लिए युवक कुछ देर वहीं कुर्सी पर बैठ सोचता रहा। इसके बाद वहां से चला गया।

दृश्य-4 एक निजी बैंक, समय 1: 45
कुछ युवक निजी बैंक में प्रवेश कर आधार के लिए पूछा। इस पर नया बनवाने के लिए आईडी मांगी गई। संशोधन के लिए पुराना आधार कार्ड मांगा गया। युवकों में से एक ने जवाब दिया कि उसके पास दोनों ही दस्तावेज नहीं है। पुराना आधार खो गया है। उसे नया ही बनवाना है। इसके लिए राशि के लिए युवक ने पूछा, लेकिन उसने बैंक में बोर्ड पर लिखे दिशा-निर्देशों की ओर इशारा कर युवकों को बताया एवं अपने काम में लग गया। युवक उन्हें पढकऱ बिना आधार बनवाए वहां से निकल गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned