बेणेश्वर धाम तीन दिनों से टापू, त्रिवेणी में पानी की आवक होने से सम्पर्क कटा, 25 लोग फंसे

Varun Kumar Bhatt

Updated: 17 Aug 2019, 01:14:11 PM (IST)

Banswara, Banswara, Rajasthan, India

बांसवाड़ा. वागड़ प्रयाग बेणेश्वर धाम पिछले तीन दिनों से टापू बना हुआ है। त्रिवेणी सोम, माही और जाखम नदियों में पानी की आवक होने से धाम पर जाने वाले तीनों पुल पानी में डूबे हुए है। माही बांध के गेट खुलने से भी यहां पानी की आवक बनी हुई है। धाम पर करीब 25 लोग फंसे हुए है जो सुरक्षित है। लेकिन उन्हें अभी पानी उतरने का इंतजार करना होगा। इधर, गनोड़ा पुल पर 8 फीट, वलाई पुल पर 10 फीट और साबला पुल पर 7 फीट पानी की चादर चल रही है। बांसवाड़ा डूंगरपुर जिलों की सीमा पर स्थित बेणेश्वर धाम आस्था का प्रमुख केंद्र है। यहां मानसून के दौरान बारिश के चलते धाम के टापू बनने का नजारा आमतौर पर देखा जाता है।

प्रधानमंत्री मोदी को राखी बांधकर बांसवाड़ा की बेटी चेताली ने मनाया रक्षा बंधन पर्व, पाया आशीष

कहां कितनी बारिश
जिले में शुक्रवार सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे गढ़ी में 15 मिमी अरथूना में 10 लोहारिया 8 जगपुरा में 4 और भूंगड़ा में 2 मिमी वर्षा दर्ज की गई। जिले में गुरुवार और शुक्रवार सुबह आठ बजे समाप्त 24 घंटों में बांसवाड़ा में क्रमश: 26 और 50, केसरपुरा में 42 और 45, दानपुर में 18 और 70, घाटोल में 36 और 62, भूंगड़ा में 44 और 85, जगपुरा में 46 और 55, गढ़ी में 15 और 51, लोहारिया में 37 और 43, अरथूना में 7 और 45 मिमी बारिश हुई। इसके अलावा इन्हीं दो दिनों में बागीदौरा में क्रमश: 7 और 50 मिमी, शेरगढ़ में 6 और 39, सल्लोपाट में 3 और 55, कुशलगढ़ में 12 और 32 व सज्जनगढ़ में 12 और 22 मिमी बारिश दर्ज की गई। इधर, माही डेम में पानी की आवक बनी रहने से उसके छह गेट 50-50 सेमी खुले रखे गए और बांध का जलस्तर 281.20 मीटर रखा हुआ है।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned