scriptRajasthan News : गर्भ में थी बेटी, उसे दुनिया भी नहीं देखने दी, कर दिया मौत के हवाले | Rajastha Daughter was in the womb: She was not even allowed to see the world, she was sent to death | Patrika News
बांसवाड़ा

Rajasthan News : गर्भ में थी बेटी, उसे दुनिया भी नहीं देखने दी, कर दिया मौत के हवाले

घटना के पहले सडक़ निर्माण विभाग ने अनदेखी कर बिजली के पोल हटवाए बिना ही कार्य शुरू कर दिया। पुराने बिजली के पोल पर तारों की ऊंचाई सडक़ भराव के कारण कम हो गई थी और तार झुके हुए भी थे। एक जगह सडक़ का निर्माण कार्य चल रहा था, जहां खुदाई के दौरान जेसीबी मशीन सहित कई वाहन खड़े थे।

बांसवाड़ाMay 30, 2024 / 02:46 pm

जमील खान

Banswara News : आनंदपुरी. बांसवाड़ा जिले के आनंदपुरी कस्बे में आई एक बारात के डीजे वाहन के करंट की चपेट में आने से काल का निवाला बनी महिला गर्भवती थी। उसकी कोख में एक बेटी पल रही थी, जिसे भी दुनिया देखने से पहले ही लापरवाही ने विदा कर दिया। एक साथ दो जानें चली गईं। मां की कोख में भी एक धडकऩ बसी थी। बारात के वाहन को करंट लगने से मंगलवार को दक्षा (22) की मौत हो गई थी। पोस्मार्टम रिपोर्ट से पता चला है कि उसे करीब सात माह का गर्भ था। उसकी कोख में बेटी पल रही थी। वह बच्ची दुनिया भी नहीं देख सकी। परिजनों ने घटना के बाद देर शाम शव का पोस्मार्टम करवाया। पोस्टमार्टम के दौरान गर्भ से निकली सात माह की मृत बेटी को भी साथ ले गए। यह देख और जानकर हर कोई द्रवित हो उठा।
एक साल पहले हुई थी शादी
दक्षा का एक वर्ष पहले ही विवाह हुआ था। मंगलवार को अपने चचेरे भाई के शादी समारोह के बाद डीजे वाहन में बैठकर घर लौट रही थी, तभी ऊपर से गुजरते तारों की चपेट में आने से डीजे वाहन में करंट दौड़ गया और वह मौत का शिकार हो गई।
दो विभागों की लापरवाही
घटना के पहले सडक़ निर्माण विभाग ने अनदेखी कर बिजली के पोल हटवाए बिना ही कार्य शुरू कर दिया। पुराने बिजली के पोल पर तारों की ऊंचाई सडक़ भराव के कारण कम हो गई थी और तार झुके हुए भी थे। एक जगह सडक़ का निर्माण कार्य चल रहा था, जहां खुदाई के दौरान जेसीबी मशीन सहित कई वाहन खड़े थे।
इस एकतरफा मार्ग पर बड़ी बसें भी आ जा रही थी। डीजे चालक ने वाहन साइड किया, उस दौरान डीजे के पीछे लाइटिंग के लिए लगा लोहे का स्टैण्ड बिजली तार के संपर्क में आ गया और पूरे वाहन में करंट दौड़ गया। इस घटना में तीन अन्य लोग घायल भी हो गए थे। निगम और ठेकेदार पर लापरवाही के आरोप ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि निगम की लापरवाही से आए दिन बिजली से जुड़े हादसे होते रहते हैं।
यह भी पढ़ें

Rajasthan Road Accident : 11 दिन पहले ही खरीदी थी नई कार, दर्दनाक हादसे ने लील लिया परिवार

अधिकांश हादसे ग्रामीण क्षेत्र में होते हैं। बेजुबान जानवर भी चपेट में आते हैं। लोगों ने यह भी आरोप लगाया कि सडक़ निर्माण कार्य के दौरान संबधित ठेकेदार ने ध्यान नहीं दिया। बताया कि जगह-जगह लगाए 33 केवी के टॉवर भी झुके हुए हैं। वे भी हादसे को न्योता दे रहे हैं, लेकिन जिम्मेदार कार्मिकों को नहीं दिख रहे हैं। बिजली के खुले तार भी सडक़ों के बीचों-बीच गुजर रहे हैं।
इधर, घटना के बाद नींद से जागे विद्युत निगम ने जगह-जगह सडक़ पर झूलते तारों को हटवाया। रातों-रात विद्युत निगम ने अपनी गलती छुपाने के लिए झूलते तारों को सही करवाया। बुधवार को भी पुरानी लाइन के झूलते तारों को ठीक करने में निगम कार्मिक जुटे हुए नजर आए, लेकिन लोगों में इस बात का गुस्सा है कि यह एक जान जाने से पहले क्यों नहीं हुआ?

Hindi News/ Banswara / Rajasthan News : गर्भ में थी बेटी, उसे दुनिया भी नहीं देखने दी, कर दिया मौत के हवाले

ट्रेंडिंग वीडियो