किराए से होटल में कमरा लेकर करते थे ये काम, सूचना पर पुलिस पहुंची तो रह गए दंग

किराए से होटल में कमरा लेकर करते थे ये काम, सूचना पर पुलिस पहुंची तो रह गए दंग

By: rohit sharma

Published: 05 May 2018, 08:10 PM IST

बांसवाड़ा।

प्रदेश में आईपीएल क्रिकेट मैच की शुरुआत से ही कहीं न कहीं सटोरिये पकड़े जा रहे है। हाल ही में राजस्थान के बांसवाड़ा का में सट्टे का एक मामला सामने आया है।
पुलिस ने शनिवार को बांसवाड़ा कोतवाली थाना इलाके के प्रताप सर्किल के पास एक होटल में किराए से कमरा लेने के बाद उसमें आईपीएल का सट्टा खेलते हुए दो जनों को दबोचा। आरोपियों के पास से पुलिस ने करीब 35 हजार की नकदी, आठ मोबाइल बरामद किए। इसके अलावा आरोपितों के कब्जे से पुलिस को लाखों रुपयों का हिसाब भी मिला है।

मिली जानकारी के अनुसार, आरोपित हर दिन नए होटल में किराए से कमरा लेकर आईपीएल का सट्टा खेलते आ रहे हैं। कोतवाली थाना प्रभारी शैतान सिंह नाथावत ने बताया कि गत कुछ दिनों से तीन-चार आरोपितों द्वारा शहर में आईपीएल का सट्टा खेलने की जानकारी मिल रही थी। साथ ही यह जानकारी भी सामने आई कि ये आरोपित आईपीएल शुरू होने से ठीक आधा एक घंटा पहले किसी भी होटल में कमरा लेते हैं और वहां बैठकर पूरा खेल खेलते हैं।

इस तरह शनिवार को पुलिस के पास शहर के उदयपुर रोड स्थित ब्यूमून, सम्राट होटल, होटल नायक एवं दीप होटल में आईपीएल का सट्टा चलने की जानकारी मिली। इस पर पुलिस ने पड़ताल करवाई तो सामने आया कि आज आरोपित सम्राट होटल में किराए से कमरा लेकर बैठे हुए हैं। इस पर पुलिस की टीमें होटल पहुंची और वहां के एक कमरे से शहर के तेलीवाड़ा निवासी मुकेश तेली पुत्र डूंगरलाल तथा कस्टम चौराहे के पास निवासी महिपाल भावसार पुत्र सेवालाल को दबोच लिया। जो आईपीएल के सट्टे में व्यस्त थे।

 

होटल मालिक को भनक तक नहीं लगती

पुलिस के अनुसार आरोपित इतने शातिर तरीके से होटलों में कमरा लेते हैं कि वहां से वेटर तक को इनके सट्टे की खबर तक नहीं लगती है। इतना ही आरोपितों की ओर से हर दिन यह खेल खेलने के लिए नया होटल का चुनाव करना पड़ता है, जिससे किसी को इस बारे में शक नहीं हो। यही वजह है कि आरोपित लंबे समय से यह खेल खेल रहे हैं और पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगती है।

 

हर दिन तीन-चार लाख का खेल

सीआई नाथावत ने बताया कि आरोपितों से पूछताछ के बाद बताया कि आरोपितों की ओर से हर दिन तीन से चार लाख रुपए का सट्टा खेला जाता है। इसके अलावा आरोपितों के सबसे ज्यादा ग्राहक इनके साथी हैं। इसके अलावा इसके साथ एक और शख्स हैं जो कुशलगढ़ का रहने वाला है। जो हर दिन रुपए के लेन-देन के कारोबार करता है।


डबल का है खेल

आरोपितों ने बताया कि इस खेल में दोगुनी राशि मिलती है और यह सबसे ज्यादा खेल हार जीत पर खेला जाता है। अगर कोई किसी टीम पर दस हजार रुपए लगाता है तो उसकी जीत के बाद उसको डबल राशि मिलती है। जिसको सट्टे की द़ुनिया में एक खुल्ला बोला जाता है। इस तरह मैच समाप्त होने के बाद हिसाब देखा जाता है। वहीं सट्टा लगाने वालों से राशि का एड़वांस में भुगतान करवाया जाता है।

Show More
rohit sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned