बांसवाड़ा : महामारी के दौर में सरकारी कर्मचारियों के खातों में पहुंची सहायता राशि, जरूरमंद रहे वंचित

government help for poor peoples, coronavirus updates : संपन्न परिवारों और सरकारी कार्मिकों के परिजनों के भी बने हुए है श्रमिक कार्ड

By: Varun Bhatt

Updated: 26 Jun 2020, 03:41 PM IST


बांसवाड़ा. जिले में कोरोना संक्रमण के दौर में जरूरतमंदों की सहायता राशि के लिए देय अनुग्रह राशि के 2500-2500 रुपए खमेरा के कई संपन्न परिवारों के खातों तक पहुंचे। उपखंड अधिकारी स्तर पर शिकायत की पंचायत समिति स्तर से कराई गई जांच में इसकी पुष्टि हो गई। जांच दल ने शिकायतकर्ता की ओर से दी गई 233 की सूची में अपात्र की पड़ताल घर-घर सर्वे कर की। शिकायत में 58 से अधिक लोगों को अपात्र बताया गया था। प्रारंभिक जांच में 28 नाम ऐसे सामने आए है, जिन्होंने सक्षम होने के बावजूद सरकारी लाभ ले लिया। अब इस रिपोर्ट के आधार पर प्रशासन आगे की कार्रवाई करेगा। गौरतलब है कि राजस्थान पत्रिका ने भी दो दिन पूर्व यह कैसी सहायता शीर्षक से समाचार प्रकाशित कर संपन्न को लाभांवित करने का मामला उठाया था।

यह नाम आए सामने
सहायता राशि प्राप्त लाभार्थियों की सूची में 28 नाम ऐसे हैं, जिनमें कुछ के परिजन राजकीय सेवा में है और कुछ के परिजन राजकीय सेवा से सेवानिवृत्त हो चुके है। आयुर्वेद डॉक्टर सहित ऐसे कई सक्षम परिवार है जिन्होंने सरकारी योजना का लाभ लिया है। इस सूची में शामिल नामों में अभिलाषा जैन, भगवती देवी, बिलकिस बी, कमला देवी, लता, नीलम, पूंजी देवी, रमिला देवी, रानू, रेखा दर्जी, संतोष, सीमा, वंदना कलाल, सीमा देवी, निर्मला देवी, ममता प्रजापत, कांता, कल्पना, कैलाश, ज्योति, जयंती, जागृति, फरीदा बी, बेगम बी, नीता जैन, प्रतिभा जैन, पूनम देवी आदि है। इनके एपीएल एंव अंत्योदय श्रेणी के राशन कार्ड और श्रमिक कार्ड बने हुए है। इस मामले में घाटोल के विकास अधिकारी हरिकेश मीणा ने बताया कि शिकायत के बाद मामले की जांच करवाकर रिपोर्ट उपखंड अधिकारी को सौंप दी है।

Show More
Varun Bhatt
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned