बांसवाड़ा : दो दिनों बाद जिले में नेट शुरू, सोशल मीडिया पर भ्रामक जानकारी और अफवाह फैलाने पर होगी कठोर कार्रवाई

बांसवाड़ा : दो दिनों बाद जिले में नेट शुरू, सोशल मीडिया पर भ्रामक जानकारी और अफवाह फैलाने पर होगी कठोर कार्रवाई

Ashish vajpayee | Publish: Sep, 03 2018 12:31:16 PM (IST) | Updated: Sep, 03 2018 12:34:19 PM (IST) Banswara, Rajasthan, India

बांसवाड़ा. शहर के महात्मा गांधी अस्पताल में हुए तिहरे हत्याकांड के बाद जिले में एतिहातन के तौर पर की गई नेटबंदी सोमवार सुबह करीब साढ़े 11 बजे फिर से सुचारू हो गई। इसके अलावा शहर में धारा 144 लागू है और भारी संख्या में पुलिस बल शहर के हर कोने में लगा रखा है। रविवार देर रात को आश्वासन के बाद मृतकों के शवों को सुपुर्द-ए-खाक किया गया। शहर में माहौल शांत है और पुलिस की ओर से पूरी निगरानी रखी जा रही है। वहीं शहर में हुए हत्याकांड के संबंध में किसी भी प्रकार की भ्रामक जानकारी या अफवाह फैलाने पर कठोर कानूनी कार्रवाई के भी निर्देश है। इसलिए कार्रवाई से बचने के लिए किसी भी विवादित मैसेज या जानकारी को फैलाने से बचना ही ठीक रहेगा। साथ शहर में शांति व्यवस्था बनाए रखने में भी आमजन की ओर से पुलिस व प्रशासन को सहयोग किया जाना चाहिए।

छावनी बने कलक्टरी परिसर और इंदिरा कॉलोनी
बांसवाड़ा. शहर के एम जी अस्पताल में तिहरे हत्याकांड के बाद हालात सामान्य बनाए रखने के लिए पुलिस और प्रशासन के आला अफसर रविवार को भी शहर में डेरा डाले रहे। इसके साथ इंदिरा कॉलोनी और कलक्टरी में भारी पुलिस बल तैनात रहा। उदयपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक विशाल बंसल, दो-तीन जिलों के एसपी एवं एएसपी के साथ रेंजभर का पुलिस जाप्ता शहर में पड़ाव डाले हुए हैं। इसके अलावा आरएसी, एमबीसी, बांसवाड़ा क्यूआरटी, ईआरटी सहित अन्य बल बांसवाड़ा में कैंप किए हुए हैं। इससे बांसवाड़ा कलक् टरी परिसर एवं इन्द्रा कॉलोनी छावनी में तब्दील हो गई है। शहर के संवेदनशील इलाकों कालिकामाता, खाटवाड़ा, पृथ्वीगंज, राजतालाब चौक, कस्टम चौराहा, गांधी मूर्ति सहित अन्य कई इलाकों में सुरक्षा कर्मियों को लगाया गया है। साथ ही ड्यूटी मजिस्टे्रट एवं कई मोबाइल पार्टियों को शांति व्यवस्था बनाए रखने में लगाया हुआ है।

धारा 144 जारी
जिले में शांति व्यवस्था बरकरार रखने के लिए शहर में धारा 144 जारी रखी गई है। साथ ही आमजन से भी सहयोग की अपील की गई है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned