बांसवाड़ा : देर रात सडक़ पर खून से लथपथ और अचेत मिले दो युवक, अस्पताल पहुंचते ही एक की मौत

बांसवाड़ा : देर रात सडक़ पर खून से लथपथ और अचेत मिले दो युवक, अस्पताल पहुंचते ही एक की मौत

Sanjay Singh | Publish: Dec, 08 2018 04:21:57 PM (IST) Banswara, Banswara, Rajasthan, India

बांसवाड़ा. दाहोद रोड पर ठीकरीया नाके के पास शुक्रवार रात सडक़ पर दो युवक खून से लथपथ और अचेतावस्था में मिले। उन्हें गंभीर हालत में महात्मा गांधी चिकित्सालय ले जाया गया, जहां एक युवक की मौत हो गई, वहीं उसका साथी गंभीर रूप से घायल है। घायल युवक के अनुसार उन पर अज्ञात लोगों ने हमला किया है। जबकि पुलिस का मानना है कि बाइक भिड़ंत के बाद यह हादसा हुआ है। हादसे में क्षतिग्रस्त दोनों वाहनों को खांदू कॉलोनी चौकी में रखवाया है। पुलिस के अनुसार सुभाष नगर निवासी पुनीत पुत्र सुरेन्द्र एवं मृतक सुथारवाड़ा निवासी हिमांशु शर्मा पुत्र अशोक बड़ोदिया में दुकान करते हैं। दोनों वहां से बांसवाड़ा आ रहे थे। रास्ते में दाहोद रोड पर उनकी किसी बाइक से भिड़ंत हुई। इसमें दोनों वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गए। इस हादसे के बाद रात को बड़ी संख्या में मृतक एवं घायल के परिजन एमजी में एकत्रित हो गए। मृतक हिमांशु के शरीर पर चोट एवं घायल की चोटों को देखकर परिजन भी हमले की आशंका जाहिर करते रहे। मौके पर खांदू कॉलोनी चौकी प्रभारी रतन की मौजूदगी में परिजनों से समझाइश चलती रही।

बांसवाड़ा : दिनदहाड़े घर में घुसकर भाई-बहन से मारपीट, किशोरी के अपहरण का प्रयास

टैम्पो अनियंंत्रित होकर नाले में गिरा, एक ही परिवार के आठ लोग घायल
बांसवाड़ा. घाटोल. खमेरा थाना क्षेत्र के देवलिया शक्तावत गांव में मतदान करने के बाद वापस लौटते समय ग्रामीणों से खचाखच भरा एक टैम्पो अनियंत्रित होने के बाद सीधा नाले में गिरा। इससे सवारियों की चीख पुकार मच गई। टैम्पो में सवार आठ जने घायल हो गए, जिनको ग्रामीणों की मदद से पहले घाटोल सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया। इसके बाद महात्मा गांधी चिकित्सालय भिजवाने की व्यवस्था करवाई गई। हादसे में टैम्पो पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार रेंगनिया गांव के लोग देवलिया शक्तावत गांव में मतदान करने के लिए आए थे। मतदान होने के बाद एक ही गांव के कई लोग टैम्पो में सवार हो गए। इससे टैम्पो में क्षमता से अधिक सवारियां भरी हुई थी। गांव से रवाना होने के बाद टैम्पो रास्ते में अनियंत्रित हो गया। इससे चालक टैम्पो को संभाल नहीं पाया और टैम्पो सीधा नाले में जाकर गिरा। गनीमत रही नाले में ज्यादा पानी नहीं था। इससे बड़ा हादसा तो टल गया, लेकिन ग्रामीणों की चीख पुकार से हडक़पं जरूर मच गया। इसे सुनकर मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीणों का जमावड़ा लग गया, जिन्होंने बड़ी मशक्कत के बाद ग्रामीणों को एक-एक कर टैम्पो और नाले से बाहर निकाला। इसके बाद सभी घाटोल सीएचसी भिजवाने की व्यवस्था करवाई गई। जहां गंभीर स्थिति होने पर ज्यादा घायलों को बांसवाड़ा एमजी चिकित्सालय भेजा गया। पुलिस के अनुसार हादसे में रेंगनिया निवासी केसर पत्नी मणीलाल, रकमी पुत्री किकिया, मीरा पुत्री होमला, देवीलाल पुत्र उकार, गंगा पुत्री शंकर सहित करीब आठ से अधिक लोग घायल हुए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned