बांसवाड़ा : युवती से अभद्रता के मामले में कार्रवाई की मांग को लेकर ग्रामीणों ने पुलिस थाना घेरा, पथराव पर पुलिस ने भांजी लाठियां

बांसवाड़ा : युवती से अभद्रता के मामले में कार्रवाई की मांग को लेकर ग्रामीणों ने पुलिस थाना घेरा, पथराव पर पुलिस ने भांजी लाठियां

Ashish vajpayee | Publish: Sep, 06 2018 02:12:23 PM (IST) Banswara, Rajasthan, India

बांसवाड़ा. आम्बापुरा. करीब एक माह पूर्व एक युवती के साथ हुई मारपीट एवं अभद्रता के मामले में निष्पक्ष जांच एवं कार्रवाई की मांग को लेकर बुधवार को पीडि़त युवती के नेतृत्व में आए ग्रामीणों ने आम्बापुरा थाने का डेढ़़ घंटे तक घेराव और नारेबाजी की। इस दौरान माहौल गरमा गया और ग्रामीणों ने पथराव कर दिया। तब पुलिस ने लाठियां भांजकर ग्रामीणों को खदेड़ा। पथराव में दो पुलिस कार्मिक घायल हो गए। पुलिस ने युवती सहित आठ जनों को गिरफ्तार किया। इसके अलावा 60-70 जनों के खिलाफ राजकार्य में बांधा पहुंचाने तथा सरकारी सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाने का प्रकरण दर्ज किया है। आंबापुरा में मुख्यमंत्री यात्रा के दौरान मामा बालेश्वर दयाल की पोती बताने वाली प्राची दीक्षित खुद के साथ मारपीट के प्रकरण में निष्पक्ष जांच की मांग को लेकर बुधवार दोपहर करीब ड़ेढ बजे अपने समर्थकों के साथ थाने पहुंची।

वहां पहुंचते ही प्राची एवं ग्रामीणों ने थाने का मुख्यद्वार बंद कर दिया और किसी को भी आने-जाने नहीं दिया। दरवाजे के आगे बैठकर नारेबाजी करने लग गए। इस पर थाने के एक एएसआई ने ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वे नहीं माने। ग्रामीणों के उग्र प्रदर्शन को देख एएसआई ने यह सूचना बांसवाड़ा ड्यूटी पर तैनात थाना प्रभारी नागेन्द्र सिंह को दी। सिंह आंबापुरा थाने पहुंचे और ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन इसी दौरान माहौल गरमा गया और ग्रामीणों ने पथराव कर दिया तो पुलिस ने बल प्रयोग कर तितर बितर किया। थाना प्रभारी नागेन्द्र सिंह ने बताया कि पथराव में थाने के कांस्टेबल खोमचंद तथा प्रभुलाल के चोट आई हैं, जिनका उपचार करवाया गया। थाने की कुछ खिड़कियों के शीशे पथराव में फूट गए और कुछ गमले क्षतिग्रस्त हुए। उल्लेखनीय है कि प्राची ने जांच की मांग को लेकर पिछले दिनो अनशन भी किया था।

इन्हें किया गिरफ्तार
पुलिस ने वहां प्रदर्शन कर रही प्राची दीक्षित, बड़ा डूंगरा निवासी प्रभुलाल पुत्र भाणजी, खमेरा निवासी रीना पत्नी रोहित निनामा, रेखा, करमदिया कुशलगढ़ निवासी विनोद पुत्र राजमल राणा, रूपजी खेड़ा निवासी प्रभु लाल पुत्र रामा, धूलजी पुत्र जीवा, वालचंद पुत्र रत्ना राठौड़ सहित 8 लोगों को गिरफ्तार किया है। मामले में 60 लोगों के खिलाफ राजकार्य में बाधा का मुकदमा दर्ज किया गया है। बाद में गिरफ्तार आठों आरोपियों को न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

ये थी ग्रामीणों की शिकायत
ग्रामीणों का आरोप था कि पुलिस प्राची व उसके साथियों के साथ मारपीट की न तो निष्पक्ष जांच की जा रही है और न ही प्रकरण दर्ज कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है जबकि इस मामले को कई दिन गुजर गए हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned