बांसवाड़ा : गुलाबी नगरी में वागड़ के साहित्यकार दिनेश पंचाल का वागड़ी में साक्षात्कार लेंगे रंगकर्मी सतीश आचार्य

बांसवाड़ा : गुलाबी नगरी में वागड़ के साहित्यकार दिनेश पंचाल का वागड़ी में साक्षात्कार लेंगे रंगकर्मी सतीश आचार्य

Ashish vajpayee | Publish: Sep, 08 2018 02:31:13 PM (IST) Banswara, Rajasthan, India

बांसवाड़ा. वागड़ी साहित्य के लिए 8 सितम्बर 2018 स्वर्ण अक्षर में अंकित होगा। गुलाबी नगरी जयपुर में शनिवार को राजस्थानी साहित्य, कला व संस्कृति से रूबरू कराने के उद्देश्य से प्रभा खेतान फ ाउण्डेशन के सहयोग से आखर शृंखला में 8 सितम्बर को वागड़ी के साहित्यकार दिनेश पंचाल से उनके साहित्यिक सफ रनामे पर चर्चा की जाएगी। पंचाल का साक्षात्कार रंगकर्मी सतीश आचार्य लेंगे। इस दौरान केन्द्रीय साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता अपने दिनेश पंचाल अनुभवों के साथ ही पुस्तकों से जुड़े लम्हों को साझा करेंगे। दिनेश पंचाल की प्रमुख रचनाओं में शांति नो सूरज कहानी संग्रह, पगरवा कहानी संग्रह, बहुरूपिये लोग कहानी संग्रह, कछुए की उड़ान बाल उपन्यास, खेत कहानी संग्रह शामिल है। वहीं नया ज्ञानोदय, मधुमति, जागती जोग, माणक, मीमांसा, हथाई, अपरंच, कथेसर, लीलटांस, कुरंजा पत्र-पत्रिकाओं व संकलनद्ध आदि सम्मिलित हंै। पंचाल को उनकी कहानी संग्रह पगरवा के लिए सन् 2008 में राजस्थानी भाषा में राजस्थानी साहित्य अकादमी पुरस्कार मिल चुका है।

वागड़ी में लिखी हर विधा पर होगी चर्चा
सतीश आचार्य ने बताया कि संस्थान द्वारा देश की क्षेत्रीय भाषाओं-बोलियों के संवद्र्धन की दिशा में साक्षात्कार रूप आखर का आयोजन किया जाता है। राजस्थान में अलग-अलग भाषाओं के लब्ध प्रतिष्ठित साहित्यकारों से रूबरू होकर उनकी भाषा व साहित्य के संबंध में चर्चा की जाती है। उसी क्रम में शनिवार शाम साढ़े पांच बजे पंचाल की साहित्य यात्रा को केन्द्र में रखकर वागड़ी में लिखे गए सभी साहित्य की चर्चा होगी। इस आयोजन में संत मावजी महाराज द्वारा वागड़ी में लिखे गए चौपड़ों व आधुनिक वागड़ी लेखकों की विधाओं की भी चर्चा होगी।

रंगोली बनाकर दिया संदेश
बांसवाड़ा. सडक़ सुरक्षा जन जागरूकता कार्यक्रम के अन्तर्गत अंकुर उच्च माध्यमिक विद्यालय के विद्यार्थियों की ओर से रंगमंच में हुए कार्यक्रम में रंगोली बनाकर हेलमेट पहनने का संदेश दिया गया। विद्यार्थियों की ओर से बनाई रंगोली की सांसद मानशंकर निनामा ने सराहना की और दीप प्रज्वलित किया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned