पेट्रोल पंप गड़बड़ी के मामले में बड़ी कार्रवाई, बाराबंकी जिले में मचा हड़कंप

पेट्रोल पंपों पर चिप लगाकर गड़बड़ी करने के मामले में जिले में बड़ी कार्रवाई की गई है। टास्क फोर्स की जांच में संदिग्ध पाए गए 19 पेट्रोल पंपों के संचालकों के खिलाफ बांट-माप विभाग ने अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की कोर्ट में केस दर्ज करवाया है।

बाराबंकी. पेट्रोल पंपों पर चिप लगाकर गड़बड़ी करने के मामले में जिले में बड़ी कार्रवाई की गई है। टास्क फोर्स की जांच में संदिग्ध पाए गए 19 पेट्रोल पंपों के संचालकों के खिलाफ बांट-माप विभाग ने अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की कोर्ट में केस दर्ज करवाया है। सभी पंपों पर लगी मशीनों में गड़बड़ी की आशंका पर कार्रवाई की गई है। संचालकों के खिलाफ दर्ज केस में टेम्परिंग और सील से छेड़छाड़ का आरोप लगाया गया है। पेट्रोल पंपों पर हुई कार्रवाई के बाद अब बांट माप विभाग ने इन पंपों पर कार्रवाई किए जाने के लिए बाट माप अधिनियम एसीजीएम प्रथम की कोर्ट में धारा 26 व 44 के तहत परिवाद दाखिल किया है। कोर्ट से आदेश मिलने के बाद आगे की कार्रवाई किए जाने की बात अधिकारी कह रहे हैं।




पेट्रोल पंप मालिकों में हड़कंप

पेट्रोल पंप पर चिप लगाकर घटतौली के खिलाफ दो महीने से चल रही छापेमारी के दौरान बांट-माप विभाग की जिले में सबसे बड़ी कार्रवाई है। जिले के कुल 117 पंपों की जांच के दौरान गड़बड़ी की आशंका पर 19 पंपों की मशीनों को सील किया गया था। हालांकि शुरू के छापेमारी अभियान में शहर के नाका सतरिख स्थित नंदलाल वेदप्रकाश के पेट्रोल पंप की जांच रिपोर्ट में पल्सर डिवाइस के साथ छेड़छाड़ किए जाने की पुष्टि होने के बाद विभाग ने उस पंप को सीज करते हुए संबंधित तेल कंपनी को इसका लाइसेंस निरस्त की संस्तुति की थी। जिस पर तेल कंपनी ने इस पंप का लाइसेंस निरस्त कर दिया था। लाइसेंस निरस्तीकरण की बड़ी कार्रवाई के बाद अन्य पेट्रोल पंप मालिकों में हड़कंप मच गया है।




इन पेट्रोल पंपों पर गिरी गाज

बाराबंकी जिले के जिन पेट्रोल पंपों पर गाज गिरी है उनमें पैसार का सिंह पेट्रोल पंप, जलालपुर का पवार फिलिंग स्टेशन, देवा रोड का फिलिंग स्टेशन, आलापुर का श्रीवास्तव फिलिंग स्टेशन, आरपीजीए पेट्रोल पंप, भानमऊ का आनंद आटो मोबाइल्स, इंदिरा फिलिंग स्टेशन, सलारपुर का एसआर कंपनी पंप, सफदरगंज का विक्रम ट्रेडर्स, रीवासींवा का श्रीराम फिलिंग स्टेशन, सफेदाबाद का किशन फिलिंग स्टेशन, त्रिलोकपुर का चौधरी फिलिंग स्टेशन, खेवली देवा का लालिते फिलिंग स्टेशन, चैपुला का बाराबंकी फिलिंग स्टेशन, भिटरिया की अग्रवाल ट्रेडिंग कंपनी, देवीगंज का आदर्श गौरी पेट्रोल पंप, सुशीला सेवा केंद्र और भीखरपुर का हमारा पंप शामिल हैं।




जल्द होगी कार्रवाई

घटतौली की पुष्टि होने पर 50 हजार रुपये जुर्माने व छह माह से एक साल तक की सजा का नियम है। जिला पूर्ति अधिकारी संतोष विक्रम शाही ने बताया कि मंगलवार को बांट माप विभाग ने एसीजेएम संख्या एक की कोर्ट में 19 पंप संचालकों के खिलाफ प्रावधानों के उल्लंघन का केस दर्ज करवाया है। जांच रिपोर्ट आने के बाद एक पंप का लाइसेंस निरस्त कर दिया गया है। इसके साथ ही कार्रवाई के लिए कानूनी राय ली जा रही है। जरूरी हुआ तो अपराधिक अभियोग व लाइसेंस निरस्त करने की भी सिफारिश की जाएगी।


Show More
नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned