#अयोध्या पर फैसला, मॉकडिल के दौरान दंगे में एक की मौत, तीन लोग घायल

अयोध्या फैसले (Ayodhya Ka Faisla) को लेकर पुलिस (Barabanki Police) ने कमर कस ली है...

बाराबंकी . अयोध्या फैसले (Ayodhya Ka Faisla) को लेकर पुलिस (Barabanki Police) ने कमर कस ली है। शुक्रवार को पुलिस लाइंस में दंगा नियंत्रण का पूर्वाभ्यास किया गया। जिसमें गोलियां चली, हथगोले दागे गए, पत्थर चले, आंसू गैस छोड़ गई, आगजनी हुई और बाद में लाठी चार्ज हुआ। जिसमें एक की मौत हो गई और तीन लोग गंभीर रूप से घायल होने का सफल पूर्वाभ्यास किया गया।


पुलिसकर्मियों में दंगा नियंत्रण का पूर्वाभ्यास

बाराबंकी पुलिस लाइंस (Barabanki Police Lines) में अधिकारियों के बीच सैकड़ों पुलिसकर्मियों में दंगा नियंत्रण का पूर्वाभ्यास हुआ। एक तरफ दंगाई तो दूसरी तरफ पुलिस और प्रशासन के अधिकारी। जब दंगाइयों ने पत्थर चलाना शुरू किया तो पुलिस ने डट कर मुकाबला किया। इसके बाद उपद्रवियों ने आग दी, लेकिन फायर बिग्रेड के अफसरों ने असफल किया। बढ़ते दंगा को लेकर डीएम डॉ. आदर्श सिंह (Barabanki DM Adarsh Singh) ने लाठीचार्ज और गोलियां चलाने का आदेश दिया। सबसे पहले दंगाइयों पर आंसू गैस के गोले छोड़ दिए। हालात पर काबू पाने के लिए पानी की बौछारें छोंड़ीं और मिर्ची गोले दागे गए। इसके बाद भी हालात सामान्य न होने पर गोलियां चलाई गईं, जिसमें एक की मौत हुई और तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। इसके बाद दंगाई मौके से फरार हो गए और बवाल समाप्त हो गया। पूर्वाभ्यास में पुलिस कर्मियों ने सफल आयोजन किया।


जिलाधिकारी और एसपी ने चलाई गोली

पूर्वाभ्यास सुबह सात बजे से लेकर 12 बजे तक किया गया। जिसमें डीएम डॉ. आदर्श सिंह ने हवाई फायर किया। जबकि एसपी आकाश तोमर (Barabanki SP Akash Tomar) ने सीधे गोली चलाई। पुलिस लाइन परेड ग्राउंड में पुलिस बल के साथ दंगा नियंत्रण उपकरण के साथ बलवा डिल कराई गई। इसमें एंटी राइट उपकरण, टियर गैस, मिर्ची बम आदि का प्रयोग किया गया।

Show More
नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned