इस पूर्व कैबिनेट मंत्री का हुआ निधन, राजनीति पार्टियों में शोक की लहर

उनका निधन 102 साल की उम्र में हो गया

By: Ruchi Sharma

Published: 13 Mar 2018, 02:19 PM IST

लखनऊ. महिला सशक्तीकरण का प्रतीक माने जाने वाली व पूर्व राज्यसभा सांसद और उत्तर सरकार में मंत्री रह चुकी बेगम हमीदा हबीबुल्ला का आज मंगलवार को निधन हो गया। उनका निधन 102 साल की उम्र में हो गया। उन्होंने राजधानी लखनऊ के कमांड हॉस्पिटल में अंतिम सांस ली। उनका अंतिम संस्कार उनके पैतृक गांव बाराबंकी के सैदनपुर में किया जाएगा।

यह भी पढ़ें- अमेरिका से आया डॉक्टर गरीबों का बना मसीहा, मुफ्त में कर रहा इलाज

यह भी पढ़ें- ये हैं अपने अलीगढ़ वाले शर्मा जी,किया ऐसा कमाल बन गए देश के सबसे युवा अमी

1969 में UPCC की निर्वाचित सदस्य चुनी गई

हमीदा का जन्म 20 नवंबर, 1916 को हुआ था। उनके पिता दिवंगत नवाब नजीर यार जंग बहादुर हैदराबाद उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश थे। उत्तर प्रदेश सरकार में हमीदा हबीबुल्लाह सोशल एंड हरिजन वेलफेयर, नेशनल इंटीग्रेशन एंड सिविल डिफेंस और टूरिज्म मंत्री रहीं थीं । बाराबंकी के हैदरगढ़ से चुनाव लड़कर वो विधानसभा पहुंची । साल 1969 में वो अखिल भारतीय कांग्रेस समिति (UPCC) की निर्वाचित सदस्य चुनी गईं ।

यह भी पढ़ें - दो बच्चे हो गए अनाथ, कई बार कुचलती लची गई गाड़ियां, लाश की हो गई एेसी हालत

यह भी पढ़ें- बड़ी खबर- पुलिस कर रही थी कुछ एेसा... डीआईजी ने किया कई इंचार्ज को बर्खास्त, मच गया हड़कंप

महिला सशक्तीकरण का माना जाता है प्रतीक

बेगम हमीदा हबीबुल्लाह को महिला सशक्तीकरण का प्रतीक माना जाता था। वहीं 1980 में उन्होंने उत्तर प्रदेश कांग्रेस समिति की कार्यकारी समिति के सदस्य के तौर पर काम किया । उन्होंने लखनऊ से लोकसभा का चुनाव भी लड़ा था । बेगम हमीदा 1972-76 तक UPCC की महिला कांग्रेस की अध्यक्ष भी रहीं । इसके बाद साल 1976-82 तक वो राज्यसभा सासंद रहीं ।

यह भी पढ़ें- इंटरनेशनल चाइल्ड पोर्नोग्राफी ग्रुप का मास्टरमाइंड था ये 20 साल का लड़का, CBI के सामने कर रहा है ऐसे खुलासे, सुनकर सभी हैरान

Congress
Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned