बर्ड फ्लू से बचाव को लेकर अलर्ट जारी, टीमें गठित कर खोला गया कंट्रोल रूम

कोरोना के बाद जिले में अब बर्ड फ्लू को लेकर अलर्ट जारी कर दिया गया है। वहीं बीमारी के डर से जिले में चिकन की बिक्री में गिरावट आ गई है।

बाराबंकी. कोरोना के बाद जिले में अब बर्ड फ्लू को लेकर अलर्ट जारी कर दिया गया है। वहीं बीमारी के डर से जिले में चिकन की बिक्री में गिरावट आ गई है। स्वास्थ्य विभाग ने सभी सीएचसी अधीक्षकों को इस संबंध में आवश्यक निर्देश जारी किए हैं। तो वहीं पशुपालन विभाग ने कंट्रोल रूम की स्थापना कर छह टीमें गठित कर दी हैं। इन टीमों ने कुक्कुट संचालकों को पूरी तरह से सावधानी बरतने के निर्देश जारी किए हैं। उधर जिला अस्पताल में भी आपात स्थिति से निपटने के लिए पूरी तैयारी कर ली गई है। मालूम हो कि पिछले शुक्रवार को सिरौलीगौसपुर तहसील के बदोसरायं में स्थित एक बाग में 20 कौवों की मौत के बाद लोगों में दहशत बढ़ गई है।

मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ. मारकंडेय सिंह ने बताया कि पक्षियों की मौत की सूचना के तत्काल बाद कंट्रोल रूम की स्थापना कर दी गई है। जिसका नंबर 9415470745 है। इस पर सभी लोगों को आवश्यक जानकारी उपलब्ध कराने को कहा गया है। इसके लिए छह टीमें गठित की गई हैं। जो बर्ड फ्लू से बचाव के लिए कैसे सावधानी बरती जाए, इसके लिए कुक्कुट संचालकों को निर्देश जारी कर रहे हैं। साथ ही चेतावनी दी गई है कि इसमें किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए।

उन्होने बताया कि जिले में 20 पोल्ट्री फार्म हैं और यहां पर करीब 39 यूनिटें संचालित हो रही है। कुक्कुट संचालकों को पूरी सावधानी बरतने के निर्देश जारी किए गए हैं। साथ ही यह भी कहा गया है कि यदि किसी पक्षी की मौत होती है तो इसकी सूचना तत्काल विभाग को दी जाए। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए। वहीं स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि सभी सीएचसी अधीक्षकों को इस संबंध में आवश्यक निर्देश जारी करते हुए पूरी तरह से सावधानी बरतने के निर्देश दिए गए हैं। अस्पताल प्रशासन का दावा है कि वह किसी भी प्रकार के हालात से निपटने को पूरी तरह से तैयार है।

सीएमओ डॉ. बीकेएस चौहान का कहना है कि शासन से मिले निर्देशों के बाद बर्ड फ्लू को लेकर पूरे जिले में अलर्ट जारी कर दिया गया है। इस संबंध में सभी सीएचसी, पीएचसी अधीक्षकों को आवश्यक निर्देश देते हुए लोगों को इस रोग के प्रति जागरूक करने के लिए कहा गया है। हालांकि जिले में इस तरह का अभी कोई मामला प्रकाश में नहीं आया है फिर भी एहतियात के तौर पर जिला अस्पताल में इसके लिए अलग से एक वार्ड बनाया जाएगा।

सीएमएस डॉ. एसके सिंह का कहना है कि जनपद में अभी तक बर्ड फ्लू का एक भी मामला प्रकाश में नहीं आया है। इसके बाद भी जिला अस्पताल किसी प्रकार के हालात से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। यदि इस प्रकार का कोई मरीज पाया जाता है तो उसे भर्ती करने के लिए अस्पताल की इमरजेंसी के पास एक अलग वार्ड बनाया जाएगा।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned