भाजपा विधायक पर जिला पंचायत प्रतिनिधि को जातिसूचक गालियां देने व जान से मारने की धमकी देने का आरोप

shatrughan gupta

Publish: Oct, 13 2017 05:44:46 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
भाजपा विधायक पर जिला पंचायत प्रतिनिधि को जातिसूचक गालियां देने व जान से मारने की धमकी देने का आरोप

भाजपा विधायक पर आरोप लगा है कि उन्होंने पार्टी कार्यकर्ता व जिला पंचायत प्रतिनिधि को जातिसूचक गालियां देते हुए जान से मारने की धमकी दी है।

बाराबंकी. उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार बनते ही नेताओं के बीच वर्चश्व की जंग शुरू हो गई है। उत्तर प्रदेश में लगभग 15 वर्षों के वनवास के बाद भाजपा की सरकार बनी है। भाजपा सरकार बनने के बाद से कई ऐसे मामले सामने आ चुके हैं, जिसमें बीजेपी नेता या पार्टी की दूसरी इकाइयों के नेता बदजुबानी, मारपीट और गाली-गलौज तक करते देखे गए हैं। पार्टी ने ऐसी हरकतें करने से बाज आने की अपने नेताओं को हिदायत दे चुकी है। बावजूद इसके भाजपा नेता अपना रौब दिखाने के लिए औछी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। ताजा मामला बाराबंकी का है, जहां भाजपा विधायक पर आरोप लगा है कि उन्होंने पार्टी कार्यकर्ता व जिला पंचायत प्रतिनिधि को जातिसूचक गालियां देते हुए जान से मारने की धमकी दी है। इस मामले में जब विधायक से बात की गई तो उन्होंने कुछ भी बोलने से साफ इनकार कर दिया।

एसपी को ज्ञापन देकर मांगी सुरक्षा

बताया जाता है कि भाजपा के पुराने कार्यकर्ता और दलित जाति के जिला पंचायत सदस्य कुंदन रावत को भाजपा के ही रामनगर विधानसभा से विधायक शरद अवस्थी ने पहले तो जाति ***** गालियां दीं, उसके बाद उन्हें धक्का देते हुए धमकी दी कि मैं तुम्हारी नेतागिरी खत्म करवा दूंगा। भाजपा विधायक की इस धमकी के बाद कुंदन रावत ने एसपी बाराबंकी को प्रार्थना पत्र देकर भाजपा विधायक शरद अवस्थी पर खुद की हत्या करवाने की आशंका जाहिर करते हुए सुरक्षा की गुहार लगाई है।

जांच करने गांव पहुंची थी टीम

बताते चलें कि फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत सुर्जनपुर गांव में कुछ दिन पूर्व दुर्गा प्रतिमा के विसर्जन के समय रास्ते को लेकर प्रशासन और ग्रामीणों में विवाद हो गया था, जिसमें पुलिस पर लाठीचार्ज करने और प्रतिमाओं को खंडित कर जबरन विसर्जित करने का आरोप लगा था। इस मामले की जांच के लिए सुर्जनपुर गांव में भाजपा विधायकों की 3 सदस्यीय कमेटी आई थी, जहां भाजपा के रामनगर विधायक शरद अवस्थी भी मौजूद थे। वहीं, भाजपा के ही जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि कुन्दन रावत भी अपने सहयोगियों के साथ मौजूद थे। आरोप है कि भाजपा विधायक शरद अवस्थी ने कुन्दन रावत को अलग बुलाकर धमकी दी और ज्यादा नेतागिरी करने पर देख लेने की धमकी दी थी और जातिसूचक गालियां देते हुए धक्का दे दिया था। इस धमकी के बाद रावत ने विधायक से अपनी जान का खतरा बताते हुए एसपी को प्रार्थना पत्र देकर सुरक्षा की मांग की है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned