मुख्तार एंबुलेंस मामले में बड़ी कार्रवाई, मऊ से डा. अल्का राय और उनके एक सहयोगी को किया गिरफ्तार

Mukhtar Ansari Ambulance Case: मुख्तार एंबुलेंस मामले में बाहुबली मुख्तार अंसारी के खिलाफ बाराबंकी कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया है।

बाराबंकी. Mukhtar Ansari Ambulance Case: माफिया डॉन मुख्तार अंसारी एंबुलेंस मामले में बाराबंकी पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। बाराबंकी पुलिस ने मऊ से डॉ अल्का राय और उनके सहयोगी शेषनाथ को गिरफ्तार किया है। इनके ऊपर एंबुलेंस का फर्जी कागजात के आधार पर रजिस्ट्रेशन कराने का आरोप है। इस मामले में पहले भी एक अभियुक्त राजनाथ यादव की मऊ से गिरफ्तारी हो चुकी है। राजनाथ यादव से पूछताछ के आधार पर ही पुलिस ने डॉ अल्का राय और उनके सहयोगी को गिरफ्तार किया है। दोनों को आज कोर्ट में पेश किया जाएगा। आपको बता दें कि बाराबंकी पुलिस ने इस केस में मुख्तार अंसारी को भी आरोपी बनाया है और मुख्तार से जुड़े बाकी गुर्गों के खिलाफ भी पुलिस जल्द एक्शन ले सकती है।


मुख्तार एंबुलेंस मामले में बड़ी कार्रवाई

मुख्तार एंबुलेंस मामले में बाहुबली मुख्तार अंसारी के खिलाफ बाराबंकी कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया है। दरअसल जिस एंबुलेंस से मुख्तार अंसारी को मोहाली की कोर्ट में पेश किया गया था, उस पर बाराबंकी का नंबर पड़ा हुआ था। छानबीन करने पर पता चला कि इस एंबुलेंस का रजिस्ट्रेशन बाराबंकी में एक निजी अस्पताल के नाम से है। हालांकि आज की तारीख में वह अस्पताल अस्तित्व में नहीं है और न ही वहां डॉ. अलका राय ही हैं। जिनका नाम एंबुलेंस की आरसी पर दर्ज है। इसके बाद जब पुलिस ने जांच शुरू की तो डॉ. अलका राय का पता मऊ जनपद में मिला। इस मामले में पुलिस की एक टीम ने मऊ जाकर नामजद डॉ. अलका के बयान दर्ज किए थे। डॉ. अलका ने पुलिस को बयान दर्ज कराने के साथ ही मुख्तार अंसारी के खिलाफ तहरीर भी दी थी। डॉ. अलका के बयान और तहरीर के आधार पर पुलिस ने मुख्तार और उसके कुछ गुर्गों का नाम मुकदमे में बढ़ा दिया है।

अभी और होंगी गिरफ्तारियां

वहीं इस मामले में बाराबकी के पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने बताया कि एसआईटी जांच के बाद डा. अल्का राय और उनके सहयोगी शेषनाथ की गिरफ्तारी की गई है। डॉ. अलका राय पर फर्जी दस्तावेज के आधार पर एम्बुलेंस का पंजीकरण कराने का आरोप है। एसपी ने बताया कि इस मामले में पहले भी राजनाथ यादव नाम के एक आरोपी की गिरफ्तारी हो चकी है और कई दूसरे लोगों की गिरफ्तारी के लिए बाराबंकी पुलिस की टीम लगी हई है।

यह भी पढ़ें: जब हवा में सांस ले रहे हैं हम, तो उसी को सिलेंडर में भर लें, आखिर हवा और मेडिकल ऑक्सीजन में क्या है अंतर

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned