बाराबंकी में बड़ा शराब घोटाला, कार्रवाई में जुटा आबकारी विभाग

निरीक्षण के दौरान स्टॉक से लगभग 24 हजार देशी शराब की ज्यादा क्वार्टर बरामद।

बाराबंकी. यूपी में अवैध शराब और दूसरे राज्यों से लाकर शराब की बिक्री का धंधा जोरों से फलफूल रहा है। शराब माफियाओं के सिंडीकेट द्वारा तस्करी करके चोरी के जरिए दूसरे राज्यों से आने वाली शराब की खेप को कई बार पुलिस और आबकारी विभाग ने बरामद किया है। लेकिन फिर भी सत्ता में ऊंची पहुंच व सांठगाठ के चलते इन शराब माफियाओं पर कोई संख्त कार्रवाई न होने से कुछ भी अंकुश नहीं लग पा रहा है।




bbk




जिलाधिकारी को भेजी रिपोर्ट

बाराबंकी में एक ऐसे ही शराब घोटाले के उजागर होने से इस गोरखधंधे से पर्दा उठता नजर आ रहा है। मामला सीएल- 2 गोदाम के अंतर्गत फ्लोरा एंड फोना कंपनी का है। जिसके गोदाम में देशी शराब का स्टॉक उतारा जाता है। हमेशा की ही तरह जब इस गोदाम में स्टाक का निरीक्षण करने बाराबंकी के आबकारी इंस्पेक्टर ओंकार नाथ अग्रवाल पहुंचे तो वहां उन्हें स्टाक से ज्यादा माल होने का अंदेशा हुआ। जब उन्होंने स्टाक रजिस्टर मिलाकर देखा तो निरीक्षण के बाद उन्हें गोदाम में स्टाक से 23 हजार 917 देशी शराब के क्वार्टर ज्यादा प्राप्त हुए। जिसके बारे में जानकारी लेने पर गोदाम में कार्यरत कर्मचारी कुछ साफ उत्तर नहीं दे पाए। जिसके बाद उच्चाधिकारियों के आदेश से आबकारी निरीक्षक ने सारे माल को सील कर दिया है और लाइसेंसी कंपनी फ्लोरा एन्ड फोना के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई हेतु जिलाधिकारी बाराबंकी को रिपोर्ट भेज दी है। आबकारी विभाग की इस कार्रवाई से शराब माफियाओं में दहशत का माहौल है।


विपिन सहाय यादव, जिला आबकारी अधिकारी, बाराबंकी का बयान सुनें:




Show More
नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned