रात भर की बारिश ने तोड़ी अन्नदाताओं की कमर, धान की फसल हुई जलमग्न

धान की फसल कटने की शुरुआत एक महीने बाद होनी थी। किसान अब अंतिम चरण में फसल बर्बाद होने से सदमें में आ गया है।

बाराबंकी. पूरी रात हुई बारिश ने किसानों की कमर तोड़ कर रख दी है। बारिश के कारण खेतों में पानी भर गया। जिससे तैयार धान की फसल कटने से पहले ही जलमग्न हो गई। धान की फसल कटने की शुरुआत एक महीने बाद होनी थी। किसान अब अंतिम चरण में फसल बर्बाद होने से सदमें में आ गया है।

पैदावार में आएगी गिरावट

बाराबंकी में लगातार तेज बारिश से किसानों की धान की लहलहाती फसल पर बर्बाद होने का संकट मंडराने लगा है। बारिश के साथ आई तेज हवा ने धान की फसल को जबरदस्त नुकसान पहुंचाया है। खेतों में लगभग तैयार खड़ी धान की फसल हवा के तेज झोंकों में जमीन पर बिछ गई। किसानों की मानें तो जमीन पर गिरने से धान की पैदावार में भारी गिरावट आएगी।

भविष्य पर संकट

बरबाद हुई फसल के बारे में किसानों ने बताया कि इस बारिश ने उनके भविष्य पर प्रश्नचिन्ह लगा दिया है। अब कैसे काम चलेगा यह समझ में नही आ रहा है। पूरी फसल खेतों में पानी भर जाने से डूब गई है जो अब सड़ना शुरू हो जाएगी। उनके ऊपर काफी कर्ज है मगर सरकार कर्ज माफ भी कर देती है तो उनके बच्चों के मुंह तक खाने का निवाला कैसे पहुंचेगा। यह चिन्ता उनको खाये जा रही है। रात भर की बारिश ने उनका सब कुछ बरबाद कर दिया है।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned