पांच साल की बच्ची ने बताया बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ नारे का असल मकसद, कहा- वह चाहती है कि हमेशा मोदी ही रहें पीएम

पांच साल की बच्ची ने बताया बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ नारे का असल मकसद, कहा- वह चाहती है कि हमेशा मोदी ही रहें पीएम

Nitin Srivastva | Updated: 14 Jun 2019, 12:42:11 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

- पांच साल की ज्योति को मोदी की योजनाओं की सारी जानकारी,
- नवनिर्वाचित सांसद का मंच पर माला पहनाकर किया स्वागत
- बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ नारे का बताया मकसद
- कभी भी किसी पर बेटी पर न हो कोई अत्याचार

बाराबंकी . नवनिर्वाचित सांसद उपेंद्र सिंह रावत के स्वागत समारोह में एक हैरान करने वाला नजारा देखने को मिला। नगर पालिका परिसर में आयोजित इस कार्यक्रम में सांसद को माला पहनाने के लिए मंच पर महज पांच साल की बच्ची पहुंची। इस बच्ची का नाम ज्योति श्रीवास्तव है और उसकी उम्र महज पांच साल है। बच्ची को पीएम नरेंद्र मोदी की योजनाओं के बारे में सारी जानकारी है। ज्योति के इस ज्ञान औऱ मासूमियत को देखकर वहां मौजूद सभी लोग हैरान थे।

 

मोदी जी हमेशा रहें पीएम

ज्योति से जब देश के प्रधानमंत्री का नाम पूछा गया तो उसने नरेंद्र मोदी का नाम लिया। बच्ची से जब पीएम मोेदी के नारे के बारे में पूछा गया तो उसने तुरंत बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ कहा। ज्योति से जब इस नारे का मतलब पूछा गया तो उसका कहना था कि इससे बेटियों का जीवन बहुत अच्छा होगा और उन्हें सफलता मिलेगी। जब इस नारे का कारण पूछा गया तो उसका कहना था कि बेटियों पर बहुत अत्याचार होता है और मैं चाहती हूं कि कभी भी किसी पर कोई अत्याचार न हो। बच्ची का कहना है कि वह चाहती है कि मोदी जी हमेशा पीएम रहें।

 

बेटी को देखकर खुश हुए सांसद

वहीं ज्योति को लेकर सांसद उपेंद्र सिंह रावत ने कहा कि उन्हें काफी अच्छा लगा कि इतनी छोटी सी बच्ची इतनी जागरुक है। इसी के चलते मैं खुद को रोक नहीं पाया और मैंने खुद उसे माला पहनाकर उसका स्वागत किया।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned