जल के जलजले ने जिले में तोड़े सारे पुराने रिकॉर्ड, पानी में डूबा आधा शहर, घर छोड़कर भागने को मजबूर हुए लोग

जल के जलजले ने जिले में तोड़े सारे पुराने रिकॉर्ड, पानी में डूबा आधा शहर, घर छोड़कर भागने को मजबूर हुए लोग

Nitin Srivastava | Publish: Sep, 02 2018 03:15:21 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

लगातार हो रही तेज बारिश ने जिले में सारे पुराने रिकॉर्ड तोड़ दिए...

बाराबंकी. पिछले 24 घंटे से ज्यादा समय से लगातार हो रही तेज बारिश ने जिले में सारे पुराने रिकॉर्ड तोड़ दिए। बारिश से शहर और ग्रामीण इलाकों में भीषण जलभराव हो गया। जलभराव की वजह से लोगों को आने जाने में भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। शहर के निचले हिस्से में बसे कई मोहल्लों में बने घरों में बारिश का पानी घुस गया। जबकि सिरौलीगौसपुर क्षेत्र में एक बुजुर्ग महिला का घर गिर गया और मलबे में दबकर उसकी मौत हो गई।

 

नगर पालिका के अधिकारियों में हड़कंप

मूसलाधार बारिश से शहर में इस कदर जलभराव हो गया कि नगर पालिका के अधिकारियों में हड़कम्प मच गया और पूरी टीम मशीन सहित निकल पड़ी। लखनऊ-फैजाबाद हाईवे पर जमुरिया पुल में इतना कचड़ा बहकर आ गया कि उसे हटाने के लिए जेसीबी से पुल की रेलिंग तोड़ी गई। उसके बाद कचड़ा सड़क पर डाला गया। तब जाकर पानी पास होना शुरू हुआ। इसके अलावा नगर पालिका ने जेसीबी मशीनें लगाकर यंगस्ट्रीम स्कूल, पीरबटावन और शहर के तमाम नालों में फंसे कचरे को बाहर निकालने की कोशिश शुरू की।

 

 

 

इन मोहल्लों का बुरा हाल

वहीं झमाझम बारिश से शहर के मोहल्ला दशहराबाग, भीतरी पीर बटावन, पीर बटावन, आजाद नगर, पैसार नाका, सतरिख नाका, हजाराबाग, माल गोदाम रोड, लखपेड़ाबाग, बड़ेल, आलापुर समेत कई जगहों पर भीषण जलभराव हो गया और लोगों के घरों में बारिश का पानी घुस गया। इसके अलावा शहर के बीच से निकले जमुरियानाला के दोनों तरफ बसे मोहल्लों में तो लोगों का रहना मुश्किल हो गया और सभी घर छोड़ने को मजबूर हो गए।

 

मकानों के गिरने का सिलसिला जारी

वहीं जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में कच्चे और जर्जर मकानों के गिरने का सिलसिला भी जारी है। बदोसराय थाना क्षेत्र के में एक मकान के ढह जाने से एक बुजुर्ग महिला की दबकर मौत हो गई। इसके अलावा भी शहर और गांव के कई घर बारिश के चलते गिर गए, जिसमें दबकर बड़ी संख्या में लोग घायल हो गए।

 

कई दिनों से कर रहे थे सफाई की मांग

वहीं शहरवासियों का कहना है कि वह लोग लगातार कई दिनों से नाला सफाई की मांग कर रहे थे लेकिन कहीं कोई सुनवाई नहीं हुई। नाले की सफाई नहीं होने से जलनिकासी नहीं हो पा रही है। इसी के चलते घरों और स्कूलों तक में पानी भर रहा है। हम लोगों का बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। हमारे घर का सारा सामान पूरी तरह से भीग चुका है। लेकिन प्रशासन की नींद अब भी नहीं खुली है और शहर में सफाई की कोई उचित स्थाई व्यवस्था नहीं कराई जा रही है।

Ad Block is Banned