शादी के तीन महीने के बाद ही हुआ कुए ऐसा, मुंबई से फोन कर पति ने बोला तलाक-तलाक-तलाक

एक विवाहिता को मुंबई में रह रहे उसके पति ने फोन पर ‘तीन तलाक’ दे दिया...

बाराबंकी . उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले में दहेज की मांग पूरी नहीं करने पर एक विवाहिता को मुंबई में रह रहे उसके पति ने फोन पर ‘तीन तलाक’ दे दिया। लड़की की शादी को अभी तीन महीने ही बीते थे। लड़की का आरोप है कि दहेज की मांग पूरी न होने पर पति ने यह हरकत की है। जिसके बाद पीड़िता ने पुलिस को तहरीर देकर न्याय की गुहार लगाई है। इस पर पुलिस अब मामले की जांच के बाद कार्रवाई की बात कर रही है।


लड़की पर टूटा दुखों का पहाड़

फोन पर तलाक के ये शब्द सुनने के बाद मानों लड़की और उसके परिवार की सारी दुनिया ही उजड़ गयी हो और दुखों का पहाड़ टूट पड़ा हो। बाराबंकी शहर के एक मोहल्ले की रहने वाली लड़की को उसके पति ने मुंबई से फोन पर तीन तलाक दे दिया। दहेज की मांग पूरी न होने पति ने पहले लड़की को पीटा और प्रताड़ित किया। फिर घर से भगा दिया। जिसके बाद जब लड़की ने कोर्ट की शरण ली तो इसकी जानकारी होने पर पति ने मुंबई से ही पत्नी को फोन कर तीन तलाक दे दिया।


दहेज के लिए पति करता था प्रताड़ित

पीड़िता के मुताबिक तीन महीने पहले ही उसका निकाह हुआ था। लेकिन मेरा पति निकाह के बाद से ही मुझे मारता और प्रताड़ित करता था। निकाह के बाद से ही वह मुझे दहेज के लिए बहुत परेशान करने लगा। जिसते चलते मेरी तबीयत काफी खराब हो गई। लड़की के मुताबिक ये बात जब मेरे घरवालों को पता चली तो उन्होंने मुझे वहां से बुलाकर अस्पताल में एडमिट करवाया। वापस घर आने के बाद मैंने उन लोगों के खिलाफ मुकदमा किया तो मेरे पति ने मुझे फोन करके तलाक दे दिया और मुकदमा वापस न लेने पर जान से मारने की धमकी दी।


काफी परेशानियों से की थी शादी

लड़की की मां के मुताबिक हम लोगों ने काफी परेशानी से अपनी बेटी की शादी की और हम लोग और दहेज नहीं दे सकते हैं। लेकिन वह लोग कुछ भी मानने को तैयार नहीं हैं। वह लगातार मेरी लड़की के साथ बुरा बर्ताव करता रहा और पूरा परिवार उसे घर में बंद करके चला जाता था। लड़की को खाना पीना भी नहीं दिया जाता था। जिसके बाद हम लोगों ने लड़के के खिलाफ मुकदमा करवाया। जिसके बाद लड़के ने मेरी लड़की को फोन पर तलाक दे दिया।


जांच के बाद होगी कार्रवाई

वहीं इस पूरे मामले पर बाराबंकी के अपर पुलिस अधीक्षक आर. एस. गौतम ने बताया कि पीड़ित पक्ष की तहरीर पर मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया गया है। पुलिस मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करेगी।

 

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned