मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिली प्रेरणा, छोटी बच्ची को गोद में लेकर कोरोना से जंग में उतर पड़ी ये महिला पुलिसकर्मी

महिला पुलिसकर्मी ने बताया कि जब हमारे मुख्यमंत्री अपने पिता के अन्तिम संस्कार में अपनी जिम्मेदारियों की वजह से शामिल नहीं हुए, तो हम तो पुलिसकर्मी है। हम अपनी बच्ची की देखरेख के बहाने घर पर कैसे बैठ जायें...

बाराबंकी. कोरोना फाईटर्स की बात हम लगातार बात करते आ रहे हैं। जो जान जोखिम में डालकर, तपती गर्मी में लोगों को बचाने के लिए मैदान उतरे हैं। इन्हें अपनी चिंता नही बल्कि चिंता है समाज को इस महामारी से बचाने की। लोग लॉक डाउन का कैसे पालन करें, इसकी चिन्ता में ये दिन रात एक किये हुए हैं। इस बीच बाराबंकी से भी एक ऐसी तस्वीर सामने आई है जो पुलिसकर्मियों का सम्मान बढ़ा देती है। यहां सड़क पर लॉक डाउन का पालन करवाने का काम रही महिला पुलिसकर्मी अपनी छोटी सी बच्ची को गोद में उठाये ड्यूटी कर रही हैं। इस महिला पुलिसकर्मी ने बताया कि जब हमारे मुख्यमंत्री अपने पिता के अन्तिम संस्कार में अपनी जिम्मेदारियों की वजह से शामिल नहीं हुए, तो हम तो पुलिसकर्मी है। हम अपनी बच्ची की देखरेख के बहाने घर पर कैसे बैठ जायें।

बच्ची को लेकर ड्यूटी कर रही महिला पुलिसकर्मी प्रीती तिवारी ने बताया कि वह महिला थाने पर तैनात हैं और उनकी छोटी सी बच्ची को देखने वाला घर पर दूसरा कोई नही हैं, लेकिन जब हमारे मुख्यमंत्री अपने पिता के अंतिम संस्कार में अपना फर्ज निभाने की वजह से शामिल नहीं होते हैं। तो हम तो छोटे से पुलिसकर्मी हैं और हमारी जिम्मेदारी उनके मुकाबले काफी कम है। तो हम अपना फर्ज निभाने के लिए अपनी बच्ची का बहाना कैसे करें। इसी बात से प्रेरणा लेकर वह अपनी छोटी बच्ची को साथ में लेकर अपना कर्तव्य निभा रही हैं।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned