बीजेपी को फायदा पहुंचाने के लिए सपा-बसपा ने किया था गठबंधऩ, बड़ा खुलासा

बीजेपी को फायदा पहुंचाने के लिए सपा-बसपा ने किया था गठबंधऩ, बड़ा खुलासा

Nitin Srivastva | Updated: 04 Jun 2019, 02:29:40 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

- 10 सीटों का आंकड़ा भी पार न कर पाती बीजेपी

- सपा-बसपा के रिश्ते टूटने पर बोले पीएल पुनिया

- कांग्रेस को गठबंधन में शामिल न करना सपा-बसपा की महाभूल

बाराबंकी. यूपी में बना महागठबंधन लोकसभा चुनावों में अपने लक्ष्य पाने में नाकाम रहा और उसके बाद अब वह लगभग टूट गया है। बसपा प्रमुख मायावती गठबंधन से अलग होने के फैसले के बाद कांग्रेस ने गठबंधन को लेकर कटाक्ष किया है। कांग्रेस के राज्यसभा सांसद पीएल पुनिया ने कहा कि सपा-बसपा गठबंधन होने के बाद पहले दिन से ही पता था कि यह बहुत दिनों तक नहीं चलेगा और इसे फेल हो जाना है।

 

सपा-बसपा की महाभूल

पीएल पुनिया ने कहा कि कांग्रेस पार्टी को गठबंधन का हिस्सा न बनाने के पीछे कहीं न कहीं उनका राजनीतिक अहंकार था या बीजेपी से इन लोगों की कोई मिलीभगत थी। गठबंधन में कांग्रेस को शामिल न करना इन लोगों की महाभूल थी और इसी के चलते ही यह गठबंधन फेल हुआ है। अगर गठबंधन में कांग्रेस को भी शामिल करते तो निश्चित तौर पर परिणाम अलग ही होते।

 

बसपा को मिला फायदा

पीएल पुनिया ने कहा कि इस गठबंधन से सबसे ज्यादा लाभ केवल बसपा को मिला। अगर कांग्रेस को इस गठबंधन में शामिल किया होता तो एक मजबूत स्थिति बनती और जो वोट बीजेपी को ट्रांसफर हो गए वह गठबंधन के पास आते। फिर बीजेपी यूपी में 10 सीटों का आंकड़ा भी पार न कर पाती। लेकिन सपा-बसपा ने बीजेपी को फायदा पहुंचाने के लिए कांग्रेस को गठबंधन में शामिल नहीं किया।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned