मन की बात में पीएम मोदी ने कल्याणी नदी के पुनरुद्धार का किया जिक्र, तारीफ करते हुए कहा- प्रवासी श्रमिकों की कोशिश अद्भुत

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में बाराबंकी जिले का जिक्र करते हुए कहा कि यहां बाहर से लौटे मजदूरों ने क्वॉरेंटाइन में रहते हुए कल्याणी नदी का प्राकृतिक रूप लौटाया है।

बाराबंकी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रेडियो पर मन की बात कार्यक्रम के जरिए देशवासियों को संबोधित किया। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में बाराबंकी जिले का जिक्र करते हुए कहा कि यहां बाहर से लौटे मजदूरों ने क्वॉरेंटाइन में रहते हुए कल्याणी नदी का प्राकृतिक रूप लौटाया है। उन्होंने कहा कि अच्छे लोग आपदा में भी अपना मूल स्वाभाव नहीं छोड़ते हैं। पीएम मोदी ने कहा कि नदी का उद्धार होता देख आस-पास के किसान और आस-पास के लोग भी उत्साहित है। गांव में आने के बाद क्वारंटीन केंद्र में रहते हुए, आइसोलेशन केंद्र में रहते हुए हमारे श्रमिक साथियों ने जिस तरह अपने कौशल्य का इस्तेमाल करते हुए अपने आस-पास की स्थितियों को बदला है वो अद्भुत है। वहीं पीएम मोदी द्वारा प्रशंसा किये जाने से जिले के आलाधिकारियों का उत्साह काफी बढ़ा है।


तारीफ से बढ़ा उत्साह

डीसी मगरेगा एनके द्विवेदी ने बताया कि पीएम मोदी द्वारा जो कल्याणी नदी के पुनरुद्धार को लेकर प्रशंसा की गई है उससे हम सभी लोगों का उत्साह काफी बढ़ा है। कल्याणी नदी का काम बाराबंकी के विकासखंड फतेहपुर के दो ग्राम पंचायतों मवइया और हैदरगंज में कराया जा रहा है। ग्राम पंचायत मवइया में नदी का काम लॉकडाउन के पहले मार्च में शुरू हुआ था। जबकि हैदरगंज में यह काम लॉकडाउन के दौरान मई महीने में शुरू कराया गया था। उन्होंने बताया कि मवइया में लगभग 30 हजार मानव दिवस 2.6 किलोमीटर और हैदरगंज में लगभग 13 हजार मानव दिवस से 1.5 किलोमीटर नदी का काम कराया जाना था। शुरू में ऐसा लग रहा था कि इतनी ज्यादा श्रम शक्ति और संसाधनों को लेकर हमें दिक्कतें आएंगी, लेकिन प्रवासी और स्थानीय श्रमिकों ने इस चुनौती को स्वीकार किया और उत्साह से काम को पूरा भी किया। इस पूरे काम में जिलाधिकारी समेत जिले के तमाम आलाधिकारी ने काफी मेहनत की।

Narendra Modi
Show More
नितिन श्रीवास्तव Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned