अनलॉक का नियम तोड़ना अब पड़ेगा भारी, पुलिस अधीक्षक ने दिए सख्त निर्देश

बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक डॉक्टर अरविन्द चतुर्वेदी ने बताया कि अनलॉक का मतलब यह नहीं है कि कोरोना का खात्मा हो गया है।

बाराबंकी. लॉकडाउन के बाद अनलॉक का नियम लागू है और इसके तहत कुछ ढील के साथ रियायत दी गयी है, जिसके कुछ नियम भी हैं। कोरोना की महामारी से बचाव के लिए जो नियम बनाये गए हैं उसमें लोगों की बढ़ती लापरवाही पर अब जिले की पुलिस सख्त हो गयी है और अब इसे कड़ाई के साथ पालन कराने के लिए उसने कमर कस ली है। लापरवाही करने वालों पर आर्थिक जुर्माना और चालान किये जाने के निर्देश के साथ 20 टीमें भी गठित कर दी गई हैं। जो अनलॉक के नियमों को सख्ती से लागू करवाएंगे।

दरअसल बाराबंकी में लॉक डाउन के बाद घोषित अनलॉक में आम जनता को काफी राहत दी गई है और जिससे लोग घरों से बाहर निकल कर अपने काम निपटा रहे हैं। अनलॉक के नियम भी सरकार ने बनाये हैं और लोगों से इन्हें पालन करने की अपील भी की है, लेकिन ऐसा अक्सर देखा गया है कि लोग कोरोना जैसी भयंकर बीमारी के प्रति लापरवाह हैं। बाराबंकी पुलिस ने अब अनलॉक के नियमों का सख्ती से पालन कराने का जिम्मा उठा लिया है और पुलिस अधीक्षक ने इसके लिए 20 टीमें गठित कर इस काम के लिए लगाया है। इसमें आर्थिक जुर्माने से लेकर चालान तक किये जाने का आदेश भी शामिल है।

बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक डॉक्टर अरविन्द चतुर्वेदी ने बताया कि अनलॉक का मतलब यह नहीं है कि कोरोना का खात्मा हो गया है। बल्कि अब इसके लिए हमें और सावधान रहने की जरूरत है। लेकिन अभी भी लोग इस बीमारी के प्रति लापरवाह दिखाई दे रहे हैं। महामारी अधिनियम के तहत अनलॉक के नियम तोड़ने पर कार्रवाई का प्रावधान है। अब उसे लागू किया जाना आवश्यक है। पुलिस की 20 टीमें गठित कर इसके नियम को तोड़ने वालों के विरुद्ध चालान और आर्थिक जुर्माने का आदेश दिया गया है। उन्होंने अपील करते हुए कहा कि लोग इन नियमों को न तोड़ें और जुर्माने और चालान की कार्रवाई की असुविधा से बचें। अन्यथा मजबूरी में पुलिस उन पर कार्रवाई को बाध्य होगी।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned