खनन माफियाओं पर कसता जा रहा है पुलिस का शिकंजा, पुलिस की गिरफ्त में आया कुख्यात खनन माफिया

अब खनन माफियाओं की खैर नहीं क्योंकि पुलिस अब इनके पीछे पड़ गई है।

By: Neeraj Patel

Published: 26 Aug 2020, 09:34 PM IST

बाराबंकी. जिले में लगता है अब खनन माफियाओं की खैर नहीं क्योंकि पुलिस अब इनके पीछे पड़ गई है। तीन दिनों के अंदर दो बड़े खनन माफियाओं का पकड़ा जाना इस बात का प्रमाण है कि अब पुलिस किसी के दबाव में आने वाली नहीं है। पुलिस इस खनन माफिया के कब्जे से दो डम्फर वाहन और एक सफारी गाड़ी बरामद कर अब इसे जेल की सलाखों के पीछे भेजने का काम कर रही है।

बाराबंकी पुलिस ने आज एक बड़े खनन माफिया को गिरफ्तार कर यह साबित किया है कि अब जिले में खनन माफियाओं की खैर नहीं है। तीन दोनों के अंदर लगातार दो बड़े कुख्यात खनन माफियाओं की गिरफ़्तारी से खनन माफियाओं में हड़कंप मच गया है। तीन दिन पूर्व अवैध मिटटी खनन का चर्चित नाम रहे विनोद यादव की गिरफ़्तारी और आज उससे भी बड़े मिटटी खनन का काम करने वाले राजेंद्र यादव की गिरफ़्तारी यह सन्देश दे रही है कि अब अवैध मिटटी खनन नहीं होने पाएगा।

बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक डॉक्टर अरविन्द चतुर्वेदी ने बताया कि दो दिन पूर्व खनन के बड़े नाम विनोद यादव और आज उससे भी बड़ा नाम राजेंद्र यादव की गिरफ़्तारी हुयी है। सतरिख इलाके में इन्होने दस हज़ार घन मीटर की अनुमति ले रखी थी मगर उसने आसपास की जमीनों पर भी अवैध मिटटी खनन करवा रखा था। राजेंद्र यादव काफी लम्बे आरसे से अवैध मिटटी खनन के काम में लिप्त था। आज इसके विरुद्ध सारे तथ्य इकट्ठा करके इसकी गिरफ़्तारी की गयी है और इसके कब्जे से दो डम्फर वाहन और एक सफारी गाड़ी जिसमें बैठ कर इस अवैध काम को कारित करता था उसे बरामद किया है, यह सन्देश है उन खनन माफियाओं के लिए कि अब कोई अवैध खनन नहीं होने दिया जाएगा।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned