लॉकडाउन में मिली ढील से जनता खुश, पर खतरे से है सशंकित

पत्रिका टीम ने बाराबंकी के नगर क्षेत्र में खुली दुकानों के बीच जाकर जनता से उनकी राय जानी

By: Neeraj Patel

Published: 05 May 2020, 05:50 PM IST

बाराबंकी. जिले में 40 दिन के लॉकडाउन के बाद मिली कुछ रियायत में जनता की क्या राय है यह जानने के लिए पत्रिका टीम बाराबंकी के नगर क्षेत्र में खुली दुकानों के बीच गई और जनता से उनकी राय जानी, जनता मिली रियायत से खुश तो है मगर आने वाले बड़े खतरे से सशंकित भी है। वहीं व्यापारी नेता सरकार से कुछ पैकेज चाहते है जिससे कारोबार को पुनः गति मिल सके।

बाराबंकी जनपद जो ओरेंज जोन की श्रेणी में आता है। सरकार ने कुछ सशर्त रियायत का प्रावधान किया है। सरकार और जिला प्रशासन के द्वारा दी गई। इस छूट को जनता कैसे देखती है यह जानने के लिए पत्रिका टीम नगर क्षेत्र में खुली हुई दुकानों पर गई। बाजारों में अचानक बढ़ी भीड़ और दुकानें खुलने को जनता एक राहत तो मानती है मगर वहीं एक बड़े खतरे के आने की इसे आहट भी मानती है। टीम ने इसके लिए एक महिला और एक पुरुष से इस छूट को कैसे देखने का सवाल किया तो उन लोगों ने बताया कि यह छूट तो बहुत जरूरी थी और लोगों इसकी जरूरत भी थी।

सरकार ने जनता का दर्द और जरूरत समझ कर कुछ ढील तो दे दी मगर अब गेंद जनता के पाले में है कि वह सरकार के इस फैसले को सही साबित करे और छूट के लिए रखी गयी शर्तों का अक्षरशः पालन करे। सोशल डिस्टेंसिंग जैसी सभी उपायों का पालन करे। दुख की बात है कि ऐसा करने वाले कम ही लोग है और इसी तरह अगर भीड़ बढ़ती रही तो एक बड़ा खतरा उत्पन्न हो जाएगा।

आदर्श व्यापार मण्डल के जिलाध्यक्ष राजीव गुप्ता बब्बी ने बताया कि दुकानें खोलने की छूट तो मिल गई है मगर व्यापारियों के पास अपना व्यापार करने के लिए पैसा नहीं है इस लिए वह सरकार से मांग करते हैं कि मध्यम और छोटे व्यापारियों के लिए एक आर्थिक पैकेज भले वह बैंक के माध्यम से लोन ही क्यों न हो उसकी घोषणा कर जिससे व्यापारी पुनः अपने व्यापार की शुरुआत कर सके।

Corona virus Corona Virus Precautions
Show More
Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned