कोरोना महामारी में प्रवासी श्रमिकों की सेवा करते समय संघ नेता हुए दर्दनाक हादसे का शिकार, बीजेपी सांसद खुद लेकर पहुंचे अस्पताल, नहीं बची जान

पिछले दो महीने से भूखे प्रवासी श्रमिकों (Pravasi Majdoor) को संघ जिला कार्यवाह करा रहे थे भोजन, सड़क हादसे में मौत...

बाराबंकी. जनपद बाराबंकी में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के जिला कार्यवाह और शिक्षक अजय चतुर्वेदी सड़क हादसे में दर्दनाक मौत हो गई। हादसा उस समय हुआ जब वह प्रवासी मजदूरों (Pravasi Majdoor) के लिए आरएसएस के बैनर तले चल रहे राहत कैम्प से लौट रहे थे। हादसे में अजय चतुर्वेदी के गंभीर रूप से घायल होने की जानकारी जैसे ही बाराबंकी से भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party) सांसद उपेन्द्र सिंह रावत को मिली वह तत्काल मौके पर पहुंचे। उनके साथ भाजपा जिला महामंत्री संदीप गुप्ता और नवीन राठौर भी थे। उन्हें तत्काल जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां से अजय चतुर्वेदी की हालत गंभीर देखते हुए चिकित्सकों ने उन्हें लखनऊ ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया। गंभीर हालत में उन्हें सांसद उपेंद्र रावत उन्हें लेकर ट्रामा सेंटर (Lucknow Trauma Center) पहुंचे। जहां इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया।

पिछले दो महीने से भूखे प्रवासी श्रमिकों को करा रहे थे भोजन

आपको बता दें कि आरएसएस की जिला इकाई की ओर से बाराबंकी के सफेदाबाद के पास दारापुर चौराहे पर प्रवासी श्रमिकों (Migrant Labour) के लिए राहत कैम्प पिछले दो महीने से चल रहा है। अजय चतुर्वेदी लॉकडाउन के दौरान करीब 2 महीने से लगातार लोगों को भोजन और राशन पहुंचाने के अभियान की अगुवाई कर रहे थे। रोज की तरह शुक्रवार की देर रात भी जिला कार्यवाहक और शिक्षक अजय चतुर्वेदी भोजन वितरण करने निकले थे। श्रमिकों को एक ढाबे पर भोजन कराने के बाद वापस लौट रहे थे, तभी रास्ते में कुछ श्रमिक दिख गए। भाजपा कार्यालय के सामने उन्हें रोककर भोजन के पैकेट निकालने लगे। तभी अचानक पीछे से आ रहे एक वाहन ने उन्हें जोरदार टक्कर मार दी। इस हादसे में अजय चतुर्वेदी, उनके एक साथी और तीन श्रमिक घायल हो गए।


पहुंचे भाजपा (BJP) विधायक और नेता

हादसे की सूचना मिलते ही भाजपा जिलाध्यक्ष अवधेश श्रीवास्तव, विधायक शरद अवस्थी, सतीश शर्मा और अन्य वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता लखनऊ पहुंचे। वहीं नवीन राठौर ने बताया कि लखनऊ ट्रामा सेंटर के इंचार्ज डॉक्टर संदीप तिवारी ने देर रात अजय चतुर्वदी को मृत घोषित कर दिया। उनका अंतिम संस्कार उनके पैतृक गांव रामसनेहीघाट क्षेत्र के लालूपुर में किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: मीट की दुकान खोलने के लिए यह है गाइडलाइंस, नियम तोड़ा होगी जेल

Show More
नितिन श्रीवास्तव Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned