दंपती पर हमले मामले में बढ़ा बवाल, पत्नी की मौत के बाद हिरासत में लिया गया पति बोला- पुलिस ने बहुत मारा, सुनते ही ग्रामीणों ने बोला हमला

Barabanki News: आक्रोश बढ़ा तो पुलिस व ग्रामीणों के बीच हुए पथराव और लाठीचार्ज में कई पुलिस कर्मी व ग्रामीण घायल हो गए।

बाराबंकी. Barabanki News: जनपद बाराबंकी जिले में मंगलवार देर रात घर वापस आ रहे कार सवार पति-पत्नी पर लाठी-डंडों से हमला कर फायरिंग मामले में नया मोड़ आया है। इसमें गोली लगने से महिला की मौके पर ही मौत हो गई थी, जबकि उसका पति घायल हो गया। पुलिस ने इस केस में तीन लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर उनको हिरासत में लिया। वहीं मामले में शक के आधार पर पुलिस ने पति को भी पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया। इसके बाद जब महिला का शव गांव पहुंचा तो नाराज लोगों ने पति को छोड़ने की मांग को लेकर सड़क पर शव रखकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। आक्रोश बढ़ा तो पुलिस व ग्रामीणों के बीच हुए पथराव और लाठीचार्ज में कई पुलिस कर्मी व ग्रामीण घायल हो गए।

पत्नी की हुई थी मौत

पूरा मामला कोठी थाना क्षेत्र के अरूई गांव निवासी दामोदर वर्मा और उनकी पत्नी संगीता वर्मा से जुड़ा है। बीते मंगलवार को दोनों लोगों के बाराबंकी से देर रात वापस लौटते समय अरूई गांव से थोड़ा पहले स्थित चांदा झील की पुलिया के पास हमला हो गया। कार से वापस आ रहे दामोदर और संगीता को बाइक से आए हमलावरों ने रोक लिया। कार रुकते ही हमलावरों ने दामोदर पर लाठी-डंडों से हमला बोल दिया। इसी बीच चोटिल दामोदर अपनी जान बचाकर मौके से भागा। इस दौरान हमलावरों द्वारा की गई फायरिंग में एक गोली संगीता के सीने पर लगने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना की सूचना पाकर पुलिस के आलाधिकारी फोर्स के साथ मौके पर पहुंची।

ग्रामीणों ने किया बवाल

वहीं दूसरी तरफ जब महिला के शव का पोस्टमार्टम करवाने के बाद पुलिस उसे लेकर अरूई गांव पहुंची तो परिजनों और ग्रामीणों ने कहा कि पति को पुलिस ने हिरासत में क्यों ले रखा है। उसको यहां लाया जाए। इस मांग पर जब पुलिस द्वारा मृतका के पति को थाने से लाया गया तो गाड़ी से उतरते ही वह चिल्लाने लगा और कहा कि पुलिस वालों ने बहुत मारा है। इतना सुनते ही ग्रामीण उग्र हो गए और पुलिस के साथ हाथापाई शुरू कर दिया। इस बीच ग्रामीण उसे पुलिस की जीप से अपने साथ लेकर चले गए तो पुलिस ने उसको छुड़ाने के लिए ग्रामीणों पर लाठीचार्ज कर दिया। इसके जवाब में ग्रामीणों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी। काफी देर तक पत्थरबाजी के बाद पुलिस ने मृतका के पिता जयराम निवासी कूड़ी थाना सफदरगंज को संगीता का शव सौंप दिया। ग्रामीणों की पत्थरबाजी औप पुलिस के लाठीचार्ज में आधा दर्जन से अधिक पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। वहीं एक दर्जन से अधिक ग्रामीण भी घायल हुए हैं।

जांच जारी, दोषियों पर होगी कार्रवाई

वहीं इस मामले में बाराबंकी के एएसपी मनोज कुमार पाण्डेय ने बताया कि असंद्रा थाना क्षेत्र में रहने वाली एक महिला की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। जिसका आज पोस्टमार्टम कराया गया था और शव को उसकी ससुराल भेजा गया था। जहां शव को देखकर ससुराल और मायके पक्ष में विवाद शुरू हो गया और अंतिम संस्कार न करने की बात कही गयी। इसपर मनाने पहुंची पुलिस टीम पर भी इन लोगों द्वारा पत्थरबाजी की गयी। विवाद बढ़ता देख कर मायके पक्ष के लोगों के साथ महिला का अन्तिम संस्कार थाना सफदरगंज इलाके के उसके पैतृक में करवाया गया। स्थिति नियन्त्रण में और और जरूरी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। जो भी दोषी मिलेगा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। माहौल खराब करने वालों पर भी कड़ी कार्रवाई होगी।

यह भी पढ़ें: यूपी में अब कुएं में डूबने से हुई मौत भी आपदा, योगी सरकार ने किया बड़ा प्रशासनिक उलटफेर

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned