बाराबंकी में पुलिस का गरीब परिवार पर टूटा कहर, एएसपी ने कहा दोषी पुलिसकर्मियों पर होगी सख्त कार्रवाई

जनपद बाराबंकी में एक गरीब परिवार पर बाराबंकी पुलिस का ऐसा कहर टूट पड़ा जिससे उसका क्रूरतम चेहरा सामने आ गया।

बाराबंकी. जनपद बाराबंकी में एक गरीब परिवार पर बाराबंकी पुलिस का ऐसा कहर टूट पड़ा जिससे उसका क्रूरतम चेहरा सामने आ गया। पुलिस ने पूरे परिवार को जिसमें महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे, उनको बुरी तरह से पीटा। पुलिस का क्रूरतम रवैया यहीं खत्म नहीं हुआ और वह परिवार के मुखिया को थाने पकड़ लायी और घर की महिलाओं से छोड़ने के एवज में 20 हजार रुपये की मांग भी की। मजबूर महिला के रुपये देने की हामी भरने के बाद जब मांग पूरी नही हुई तो गांव आकर भद्दी-भद्दी गालियां दी और दोबारा बंद करने की धमकी दी। गरीब परिवार पर हुए इस जुल्म की खबर सोशल मीडिया पर देखते ही देखते वायरल हो गयी और अपर पुलिस अधीक्षक ने संज्ञान लेते हुए कहा कि जांच की जा रही है। दोषी पुलिसकर्मियों पर सख्त दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

अंगूठी चोरी के शक में पुलिसवालों ने पीटा

मामला बाराबंकी जनपद के थाना दरियाबाद इलाके के गांव पोयिनी से जुड़ा है। जहां पुलिस का तांडव उस वक्त नजर आया, जब वह एक गरीब परिवार पर जबरन घटना कबूल करवाने का दबाव बनवा रहे थे। पुलिस इस कदर उग्र थी कि उसने न महिलाएं देखीं, न पुरुष देखे और न बच्चे देखे। सबको बुरी तरह से पीट-पीट कर लहूलुहान कर दिया। परिवार के मुखिया को थाने लाने के बाद पट्टों से जमकर पिटाई भी की। जब महिलाएं पुलिस से मिन्नतें करने पहुंची तो पुलिस ने उनसे छोड़ने की एवज में 20 हजार रुपये की मांग रखी। जब वह इस मांग को पूरा नहीं कर पाईं तो पुलिस वालों ने भद्दी-भद्दी गालियां देते हुए उन्हें दोबारा जेल में बन्द कराने की धमकी दी।

महिलाओं से 20 हजार की मांग

कैमरे के सामने पीड़ित परिवार का रो रो कर बुराहाल था, किसी तरह कुरेदे जाने पर उन लोगों ने बताया कि गांव में एक अंगूठी गायब हुई थी और पुलिस उनके बच्चे पर दबाव बनाकर यह कबूल करवा रही थी कि चोरी उसी ने की है। जब बच्चे ने इनकार किया तो घर पर आकर बुरी तरह से परिवार वालों को पीटा और घर की तलाशी के नाम पर अनाज सहित अन्य जरूरी सामान को उठा कर फेंक दिया। परिवार के बच्चों, महिलाओं को लहूलुहान करने से भी उनका मन नही भरा तो परिवार के मुखिया को अपने साथ थाने लेकर चले गए और वहां चमड़े के पट्टों से जमकर पिटाई की। घर की महिलाएं जब थाने पर पुलिस से छोड़ने की प्रार्थना करने पहुंची तो छोड़ने के एवज में 20 हजार रुपये की मांग पुलिस द्वारा की गयी। जिसे न होते हुए भी महिलाओं ने देने की हामी भर दी। घर आकर जब पैसों का इंतजाम नहीं हो पाया तो पुलिस ने दोबारा जेल भेजने की धमकी देते हुए भद्दी-भद्दी गालियां दीं।

मामले की जांच शुरू

सोशल मीडिया पर चली इस खबर का संज्ञान लेते हुए बाराबंकी के अपर पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार पाण्डेय ने बताया कि सोशल मीडिया से उन्हें ज्ञात हुआ है कि दरियाबाद पुलिस ने एक परिवार को बुरी तरह से मारा पीटा है। पता करने पर यह ज्ञात हुआ कि एक दिन पूर्व गांव में शादी थी और वहां एक महिला की अंगूठी गायब हो गयी थी। जिसका शक उसने गांव के दो बच्चों पर जाहिर किया था। महिला के शक के आधार पर पुलिस एक व्यक्ति को थाने पूछताछ के लिए लेकर आयी थी और बाद में उसे घर वापस छोड़ दिया था। दरियाबाद पुलिस पर जो आरोप लगे है वह बेहद गंभीर हैं। इसलिए उन आरोपों की जांच करवायी जा रही है और दोष सिद्ध होने पर दोषी पुलिसकर्मियों पर सख्त दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned