कार से ले जा रहे थे 400 किलो प्रतिबंधित मांस, मौके पर पहुंची पुलिस ने घेरा, 7 को किया गिरफ्तार

बाराबंकी नगर कोतवाली में मोहम्मदपुर के पास जंगल में कुछ लोगों ने दो वध प्रतिबंतिध मवेशियों के काटे जाने की खबर मिली...

बाराबंकी. बाराबंकी नगर कोतवाली में मोहम्मदपुर के पास जंगल में कुछ लोगों ने दो वध प्रतिबंतिध मवेशियों के काटे जाने की खबर मिली। जिसके बाद लोगों में काफी गुस्सा दिखा। सूचना मिलने नगर कोतवाली और देवा पुलिस ने घेराबंदी कर दुंदपुरवा गांव मोड़ बरेठी के पास से सात लोगों को गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से दो कारों में करीब चार सौ किलो प्रतिबंधित मवेशी का मांस बरामद किया। मांस लखनऊ के सआदतगंज मोहल्ले से बेचा जाता था। लोगों में रोष देखते हुए बंकी कस्बा में पुलिस और पीएसी तैनाती की गई।

पुलिस को देख कर भागे आरोपी

पुलिस टीम जैसे ही मौके पर पहुंची तो आरोपी भागने लगे। कुछ आरोपी कार से भागने लगे तो पुलिस ने पीछा कर उन्हें दुंदपुरवा गांव मोड़ बरेठी के पास से गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए लोगों में रईस और शकील निवासी बड़ागांव थाना मसौली, मो. आजाद निवासी भूसा मंडी (कसाई बाड़ा) फतेहगंज थाना अमीनाबाद लखनऊ, मो. नसीम, मो. आमिर व मो. तौफीक निवासी कसाई बाड़ा फतेहगंज थाना अमीनाबाद लखनऊ और रिंकू उर्फ पिंटू सिंह निवासी मौलवी खेड़ा बिजनौर थाना बंथरा लखनऊ शामिल हैं। पुलिस ने सभी के खिलाफ केस दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया है।

चार सौ किलो मांस बरामद

पकड़े गए आरोरियों की दो कारों से पुलिस ने प्रतिबंतिध मवेशी का करीब चार सौ किलो मांस, दो बांका, एक ठीहा, रस्सा आदि बरामद किया। पुलिस जब बाग में पहुंची तो घटना स्थल के आस पास प्रतिबंधित मवेशी के अवशेष भी आसपास बिखरे हुए थे। पुलिस ने आनन-फानन बाग में गड्ढा खोदवा कर बरामद मांस और मवेशियों के अवशेषों को नष्ट कराया। प्रतिबंधित पशुओं का मांस लखनऊ के सहादतगंज में सुफियान उर्फ अण्डा अपनी दुकान से बेचने का काम करता था। यह मांस भी उसी की दुकान पर जा रहा था। सुफियान लखनऊ का निवासी है। मास्टरमाइंड सुफियान फिलहाल अपनी दुकान बंद कर फरार है। सर्विलांस टीम के सहारे पुलिस उसकी तलाश में जुट गई है।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned