कोविड गाइडलाइन का पालन न करने पर कड़ी कार्रवाई, कार्यलयों में बने हेल्प डेस्क

जिले में बढ़ रहे कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए जिलाधिकारी डा. आदर्श सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट स्थित लोक सभागार में एक जरूरी बैठक हुई।

बाराबंकी. जिले में बढ़ रहे कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए जिलाधिकारी डा. आदर्श सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट स्थित लोक सभागार में एक जरूरी बैठक हुई। इस दौरान कोरोना वायरस से बचाव, रोकथाम हेतु आवश्यक दिशा निर्देशों पर चर्चा किया गया। डीएम ने कोविड प्रोटोकाल का पालन सख्ती से कराने के निर्देश दिए।

सर्विलांस टीम घर-घर जाकर लेगी विस्तार से जानकारी

जिलाधिकारी ने बताया कि कोविड-19 पॉजिटिव पाये जाने वाले लोगों से सर्विलांस टीम द्वारा घर-घर जाकर विस्तार से जानकारी ली जायेगी तथा संक्रमित केस पाये जाने वाले एरिया में सैनेटाइजेशन का कार्य तत्काल पूरा किया जाये । जो व्यक्ति कोविड 19 जांच के उपरान्त कोरोना संक्रमित पाये जाते है इस स्थिति में तत्काल सम्बन्धित अधिकारियों एवं कंट्रोल रूम को सूचना देते हुए होम क्वारंटाइन हो जाये। इसके साथ ही जिस वार्ड में कोरोना पॉजिटिव केस अत्यधिक पाये जा रहे है, वहां पर कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग कर रिर्पोट प्रस्तुत की जाये। कोविड-19 के प्रोटोकाल का अनुपालन न करने पर कठोर कार्यवाही भी की जा सकती है। उन्होंने कहा कि निगरानी समिति के माध्यम से कोविड-19 के केसों की सूची प्रतिदिन उपलब्ध करायी जाये। ज्यादा से ज्यादा कोरोना केसों की स्थिति में एम्बुलेंस व वेटिंलेटर, सीसीटीवी कैमरा क्रियाशील रहें।

सभी विभागों में क्रियाशील हो कोविड हेल्प डेस्क, अनदेखी पर सख्त कार्रवाई

जिलाधिकारी ने कोविड-19 से बचाव और रोकथाम के लिए जनपद के समस्त विभागों में कोविड हेल्प डेस्क स्थापित किए जाने हेतु शासन द्वारा दिये गये निर्देशों के क्रम में पूर्व में ही जनपद के सरकारी सभी विभाग या सम्बद्ध संस्थाओं के समस्त अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि अपने-अपने विभागीय कार्यालयों में एक कोविड हेल्प डेस्क स्थापित कराना सुनिश्चित करें। जिसमें थर्मल स्कैनिंग, सैनेटाइजर आदि की व्यवस्था उपलब्ध हो तथा कोविड-19 के संकमण से बचाव, रोकथाम एवं उपचार हेतु प्रचार-प्रसार सामग्री प्रदर्शित की जाए और साथ ही कोविड हेल्प डेस्क में कर्मचारियों की शिफ्टवार ड्यूटी भी लगायी जाये. वर्तमान में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है, जिसके परिप्रेक्ष्य में यह आवश्यक है कि समस्त विभागों में कोविड हेल्प डेस्क क्रियाशील रहे और जिन कार्यालयों में अभी तक कोविड हेल्प डेस्क नहीं लगाया गया है, वहां तत्काल लगाया जाएं। उन्होंने कहा कि नियमों की अनदेखी करने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी एकता सिंह, अपर जिलाधिकारी संदीप कुमार गुप्ता, उपजिलाधिकारी अभय पाण्डेय, मुख्य चिकित्साधिकारी डा बीकेएस चैहान, सहित सम्बन्धित विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

डीएम ने मेयो और हिन्द मेडिकल कालेज का किया औचक निरीक्षण

जिलाधिकारी डा आदर्श सिंह ने मेयो मेडिकल कॉलेज तथा हिन्द मेडिकल कॉलेज में कोविड-19 महामारी बीमारी की रोकथाम व बचाव हेतु हास्पिटल में व्यवस्थाओं का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान आक्सीजन सिलेन्डर, आॅक्सीजन सप्लाई, स्टाफ की उपलब्धता, मास्क, टेस्टिंग, वेटिंलेटर, पीपीई किट, अत्यधिक बेड्स की उपलब्धता की गहनता से जानकारी ली। जिलाधिकारी ने निरीक्षण के दौरान डाक्टर्स व स्टाफ को निर्देश दिया कि कोविड-19 के बढ़ते केसों को ध्यान में रखते हुए सतर्कता आवश्यक है। इस हेतु पीपीई किट, मास्क व सैनेटाइजर का प्रत्येक दशा में इस्तेमाल किया जाये। जिलाधिकारी ने कहा हास्पिटल में मरीजों को किसी भी प्रकार की समस्या नहीं उत्पन्न होनी चाहिए। समस्त मेडिकल स्टाफ सहित सारी सुविधाएं मरीजों के लिए मुहैया कराने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने सम्बन्धित को निर्देशित करते हुए कहा कि परिसर में किस भी प्रकार की गंदगी नहीं होनी चाहिए। इस दौरान जिलाधिकारी ने कोरोना संक्रमित भर्ती रोगियों के उपचार आदि की जानकारी की। पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने कहा कि यदि सम्बन्धित मेडिकल कालेजों में सुरक्षा की दृष्टि से सुरक्षा की आवश्यकता है तो तत्काल सूचना दी जाये, जिससे पर्याप्त मात्रा में सुरक्षा बल तैनात किया जा सके।

coronavirus
नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned