बाराबंकी में द मिलियन फार्मर्स किसान पाठशाला, किसानों को दी गई खेती से जुड़ी जानकारी, कृषि मंत्री ने की शिरकत

बाराबंकी में द मिलियन फार्मर्स किसान पाठशाला, किसानों को दी गई खेती से जुड़ी जानकारी, कृषि मंत्री ने की शिरकत

Nitin Srivastva | Updated: 14 Jun 2019, 10:56:06 AM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

- कार्यक्रम में पहुंचे कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही
- किसानों को दिए गए आय बढ़ाने के टिप्स
- नई तकनीकि से खेती करने की दी जानकारी

बाराबंकी . द मिलियन फार्मर्स किसान पाठशाला का कार्यक्रम बाराबंकी में आयोजित किया गया। जिसमें शिरकत करने खुद प्रदेश सरकार के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही पहुंचे। इस मौके पर कार्यशाला में किसानों को खेती से जुड़े तमाम टिप्स दिए गए। साथ ही इस बारे में भी जानकारी दी गई कि किसान कैसे खेती के माध्यम से अपनी आय बढ़ा सकते हैं।

 

किसानों को मिले टिप्स

वहीं पाठशाला में आए किसानों ने बताया कि उन्हें इस कार्यशाला में खेती से जुड़ी काफी जानकारियां मिलीं। उनका कहना है कि इस पाठशाला में उनका अनुभव काफी अच्छा रहा और वह इसे अपनी खेती में इस्तेमाल करेंगे।

 

किसान बनें आत्मनिर्भर

बंकी ब्ल़ॉक के ग्राम सहेलिया में आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करते हुए कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि द मिलियन फार्मर्स स्कूल 10 लाख किसानों की पाठशाला है। यह कार्यक्रम पूरे प्रदेश में बीती 10 जून से 13 जून तक और आने वाली 17 जून से 20 जून तक प्रतिदिन ऐसी पाठशालाएं चलती रहेंगी। जिसमें कृषि क्षेत्र में आने वाली कठिनाइयां का निराकरण, कृषि विभाग द्वारा मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी दी जा रही है। कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि हम लोग हानि की खेती को अपनी मेहनत से लाभ की खेती बना सकते हैं। मोदी सरकार में किसान आत्मनिर्भर हो रहे हैं। हमारी सरकार का पूरा प्रयास किसानों की आय दोगुना करने का है। इस तरह की कार्यशालाओं से किसान इससे लाभान्वित हो रहे हैं। हमारी सरकार योजनाओं को किसानों तक पहुंचा रही है। यूपी लगातार विकास के मार्ग पर आगे बढ़ रहा है। शाही ने कहा कि कृषि का क्षेत्र लगातार शोध का क्षेत्र है और उसके अंदर हमारे वैज्ञानिक लगातार शोध करते हैं। जिसका लाभ उठाकर किसान अपनी आमदनी दोगुना और तीन गुना कर रहे हैं।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned