अखिलेश यादव के ट्वीट पर मंत्री सुरेश राणा का पलटवार, सपा सरकार दंगा कराने में माहिर

मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि गन्ना किसानों के भुगतान पर अखिलेश यादव को बोलने का अधिकार नहीं...

Nitin Srivastva

September, 1302:43 PM

Lucknow, Uttar Pradesh, India

बाराबंकी. उत्तर प्रदेश में गन्ना किसानों के भुगतान को लेकर राजनीतिक बयानबाजी थमने का नाम नहीं ले रही है। बीते दिनों सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश ने ट्वीट करकर प्रदेश की योगी सरकार पर निशाना साधा था। अब अखिलेश यादव के इस ट्वीट का जवाब योगी सरकार के मंत्री सुरेश राणा ने दिया है। उन्होंने कहा कि गन्ना किसानों के भुगतान को लेकर अखिलेश यादव को बोलने का कोई हक नहीं है।

 

 

 

अखिलेश के ट्वीट पर सुरेश राणा का जवाब

बीते दिनों गन्ना किसानों के भुगतान को लेकर अखिलेश यादव ने ट्वीट किया था कि बीजेपी सरकार गन्ना बकाया न चुकाने से जिस तरह किसानों का विरोध झेल रही है, उस आग में अब प्रवचनीय मुख्यमंत्री जी ने यह कहकर घी डाल दिया कि वह गन्ना न उगाएं, इससे डायबीटीज बढ़ती है। अखिलेश के इस ट्वीट पर योगी आदित्यनाथ सरकार के मंत्री सुरेश राणा ने पलटवार किया है। मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि अखिलेश यादव को गन्ना किसानों के भुगतान पर बोलने का कोई अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि सपा सरकार में चार सालों तक गन्ना किसानों का भुगतान नहीं किया गया था। जिसके चलते अखिलेश सरकार के समय कई गन्ना किसानों ने आत्महत्या भी कर ली। सुरेश राणा ने दावा किया कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार बनते ही सबसे पहले गन्ना किसानों के त्वरित भुगतान के निर्देश दिए गए थे।

 

 

 

बीजेपी सरकार ने गन्ना किसानों का किया भुगतान

मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि हमारी सरकार ने आते ही गन्ना किसानों का साढ़े चार हजार करोड़ रुपए का भुगतान किया। गन्ना किसानों का यह बकाया सपा की अखिलेश यादव सरकार के समय का था। इसके अवाला सीएम योगी ने साल 2015-16 का कुल सोलह हजार करोढ़ रुपए का गन्ना किसानों के बकाया भुगतान किया। सुरेश राणा ने बताया कि इस साल योगी सरकार ने गन्ना किसानों का साढ़े पच्चीस हजार करोड़ रुपए का गन्ना किसानों के बकाये का भुगतान अब तक कर दिया गया है। सुरेश राणा के मुताबिक योगी सरकार अब तक गन्ना किसानों का करीब 36 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का भुगतान कर चुकी है। अखिलेश सरकार में गन्ना भुगतान काफी कम हो गया था। इसका मुख्य कारण उनकी सरकार में गन्ना किसानों के बकाये का भुगतान न होना था।

 

सपा सरकार दंगा कराने में माहिर

इसके साथ ही अखिलेश यादव ने सीएम योगी के गन्ना न उगाने वाले बयान पर ट्वीट करके निशाना साधते हुए कहा था कि उन्हें अपने समर्थकों को सलाह देनी चाहिए कि वो समाज में हिंसा-नफ़रत की कड़वाहट न घोलें। इसके जवाब में मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि अखलिश यादव इस बात को बेहतर जानते हैं कि देश में अगर किसी के बास दंगा कराने का एक्सपर्टाइज है तो वह समाजवादी पार्टी के पास है। सपा सरकार के पांच साल में 200 से ज्यादा दंगे उत्तर प्रदेश में हुए थे। मुजफ्फरनगर की हालत क्या थी, पूरे देश नहीं बल्कि दुनिया में उत्तर प्रदेश की बदनामी उनके कारण हुई थी। सुरेश राणा ने कहा कि योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था पर फोकस किया है। डेढ़ साल में यहां की कानून व्यवस्था को दूसरे राज्यों के लिए रोल मॉडल बनाया है। इसी के चलते यूपी में किसी भी धर्म का त्योहार हो, वह शांति के साथ मनता है। आज किसी की भी हिम्मत नहीं है कि वह उत्तर प्रदेश में दंगा कराने के बारे में सोचे।

 

विकास से घबराकर हो रहा गठबंधन

विपक्षी दलों के गठबंधन के सवाल पर मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि देश की मोदी और प्रदेश की योगी सरकार के विकास कार्यों से घबराकर तात्कालिक गठबंधन करने की कोशिश हो रही है। लेकिन विकास की राजनीति की उम्र लंबी होती है। देश और उत्तर प्रदेश की जनता विकास के साथ खड़ी हुई है। उन्होंने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में बड़े बहुमत के साथ नरेंद्र मोदी दोबारा देश के प्रधानमंत्री बनेंगे।

 

Show More
नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned