यूपी एसटीएफ ने फर्जी शिक्षक को किया गिरफ्तार, वसूला जाएगा 9 साल का सारा वेतन

उत्तर प्रदेश में जबसे योगी आदित्यनाथ की सरकार सत्ता में आयी है, तभी से प्रदेश में फर्जी दस्तावेजों पर सरकारी नौकरी करने वाले लोगों के बुरे आ गए हैं।

बाराबंकी. उत्तर प्रदेश में जबसे योगी आदित्यनाथ की सरकार सत्ता में आयी है, तभी से प्रदेश में फर्जी दस्तावेजों पर सरकारी नौकरी करने वाले लोगों के बुरे आ गए हैं और एक के बाद एक ऐसे लोगों की सेवाएं समाप्त हो रही हैं। इसी क्रम में बाराबंकी में एक फर्जी शिक्षक को यूपीएसटीएफ की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है। बीएसए ने इस फर्जी शिक्षक को बर्खास्त कर दिया। उसके द्वारा लिए गए वेतन की भी रिकवरी की जाएगी। बीएसए ने बताया कि इस फर्जी शिक्षक ने दूसरे के शैक्षणिक दस्तावेज लगाए थे और जिसके ये दस्तावेज हैं, उसकी सेवाएं महराजगंज जनपद में चल रही है।

 

पिछले 9 सालों से कर रहा था नौकरी

बाराबंकी जनपद के विकासखंड पूरे डलई में फर्जी दस्तावेजों के आधार पर पिछले 9 वर्षों से नौकरी करने वाले फर्जी शिक्षक सूरज कुमार उपाध्याय को गिरफ्तार कर लिया गया। इस फर्जी शिक्षक को गिरफ्तार करने और कानूनी कार्रवाई को करने का आदेश महानिदेशक स्कूल शिक्षा की ओर से दिया गया था। आदेश मिलने और गिरफ्तारी होने के बाद बाराबंकी के बीएसए ने भी सूरज उपाध्याय को नौकरी से बर्खास्त कर दिया है। बीएसए के अनुसार सूरज पिछले नौ वर्षों से शिक्षक की नौकरी कर रहा था और इस नाम का असली व्यक्ति महराजगंज जनपद में नौकरी कर रहा है। यहां नौकरी करने वाले का असली नाम सुभाष पाण्डेय है और यह संतकबीरनगर जनपद का रहने वाला है। इसकी जांच इसके मूल निवास तक करवाई गई है और सभी दस्तावेजों की मूल प्रतियों की भी जांच करवाई गई है। महानिदेशक स्कूल शिक्षा के आदेश पर इसके द्वारा अब तक लिए गए वेतन की रिकवरी भी करवाई जाएगी।

 

वेतन की होगी रिकवरी

बाराबंकी के बेसिक शिक्षा अधिकारी वी.पी.सिंह ने बताया कि कुछ दिन पूर्व यहां फर्जी शिक्षक पकड़ में आये थे। एसटीएफ की बातचीत के बाद फर्जी शिक्षकों की एक सूची सामने आई थी जिसमें उनके जनपद के भी कुछ नाम थे। उसमें एक नाम सूरज उपाध्याय का भी था और उसकी तथा उसके अभिलेखों की जांच करवायी गयी तो यह बात सामने आई कि असली सूरज उपाध्याय महराजगंज जनपद में शिक्षक की नौकरी कर रहा है और हमारे यहां जो सूरज नौकरी कर रहा है उसका असली नाम सुभाष पाण्डेय है। महानिदेशक स्कूल शिक्षा के आदेश पर खण्ड शिक्षा अधिकारी को कानूनी कार्रवाई करने के आदेश उनके द्वारा दिये गए थे और वहीं से एसटीएफ ने कथित सूरज उपाध्याय की गिरफ्तारी की है। उसे नौकरी से बर्खास्त कर अन्य कार्रवाई की जा रही है और उसके द्वारा लिए गए वेतन की भी रिकवरी की जाएगी।

Show More
नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned