भगदड़ के बाद गिरा मकान का मलबा, मलबे में दबने से एक महिला और एक मासूम की मौत

बाराबंकी जनपद के थाना देवा कोतवाली इलाके खेवली गाव में एक बीमार महिला को देखने काफी लोग आ गए और पता नहीं किस बात को लेकर भगदड़ मच गयी।

By: नितिन श्रीवास्तव

Published: 15 Sep 2020, 03:18 PM IST

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

बाराबंकी. अनहोनी किसी को बता कर नहीं आती और वह किसी न किसी बहाने से अपने साथ मौत को लेकर आती है। कुछ ऐसा ही हुआ है बाराबंकी में। जहां लोगों की भीड़ एक बीमार महिला को तो देखने आयी थी। मगर कुछ ऐसा हुआ कि पूरा माहौल चीख पुकार में बदल गया। अचानक मची भगदड़ से मकान का मलबा गिर गया और उसके नीचे दबने से एक महिला और घर के बाहर खेल रहे एक मासूम की मौत हो गयी। जबकि दो लोग बुरी तरह से घायल हो गए। मौके पर पहुंची स्थानीय पुलिस ने शवों को बाहर निकाल कर घायलों को अस्पताल भेजने का काम किया।

थाना देवा इलाके की घटना

बाराबंकी जनपद के थाना देवा कोतवाली इलाके खेवली गाव में एक बीमार महिला को देखने काफी लोग आ गए और पता नहीं किस बात को लेकर भगदड़ मच गयी। अचानक हुई इस भगदड़ के कारण महिला के घर की बाहरी पुरानी दीवारे भरभरा कर गिर गयी। दीवार गिरने से घर से निकल रही एक महिला कमरजहां (35 वर्ष) और घर के बाहर खेल रहा एक मासूम अमरदीप (4 वर्ष) मलबे के नीचे दब गए और उनकी मौके पर मौत हो गयी। इसके साथ ही मलबे के नीचे दो अन्य लोग भी दबकर बुरी तरह से घायल हो गए। जिन्हें पुलिस ने अस्पताल इलाज के लिए भेजा और शव का पोस्टमार्टम कराया।

मासूम की दबकर मौत

प्रत्यक्षदर्शी और मृतक मासूम अमरदीप के चचेरे भाई ने बताया कि उनका भाई घर के बाहर खेल रहा था। उसकी उम्र महज 4 साल ही थी। सामने के घर में महिला बीमार थी। उसी को देखने के लिए काफी लोग इकट्ठा हुए थे और पता नही कैसे भगदड़ मच गई और दीवार उनके भाई के ऊपर गिर गयी। स्थानीय लोगों की मदद से उसे अस्पताल ले जाया गया। मगर रास्ते में ही उसकी मौत हो गयी। मृतक अमरदीप के पिता अमरेश कुमार ने बताया कि वह एक कंपनी में काम करता है और कंपनी से आने के बाद उसे पता लगा कि उसके बेटे के ऊपर दीवार गिर गयी है और बच्चा उसमें दब गया है। जिससे उसकी मृत्यु हो गयी है। दीवार कच्ची थी इसी कारण गिर गयी।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned