संसाधन तो पूरे हो गए, कक्षा कक्ष अधूरे

अंता क्षेत्र के 27 माध्यमिक व उच्च माध्यमिक स्कूलों में आईसीटी लैब स्थापित कराने के लिए समसा ने कम्प्यूटर सहित अन्य संसाधन तो जुटा लिए लेकिन करीब 9 स्कूलों में आईसीटी लैब कक्ष ही नहीं है। कुछ स्कूलों में आईसीटी लैब कक्ष तो हैं लेकिन कक्षा-कक्षों की कमी है। उक्त कक्षों में छात्र-छात्राएं अध्ययन करते हैं। ऐसे में अनुबंधित कंपनी को लैब स्थापित करने में दिक्कतें आ रही हैं।

By: Dilip

Published: 18 Dec 2018, 12:24 PM IST

बारां. अंता क्षेत्र के 27 माध्यमिक व उच्च माध्यमिक स्कूलों में आईसीटी लैब स्थापित कराने के लिए समसा ने कम्प्यूटर सहित अन्य संसाधन तो जुटा लिए लेकिन करीब 9 स्कूलों में आईसीटी लैब कक्ष ही नहीं है। कुछ स्कूलों में आईसीटी लैब कक्ष तो हैं लेकिन कक्षा-कक्षों की कमी है। उक्त कक्षों में छात्र-छात्राएं अध्ययन करते हैं। ऐसे में अनुबंधित कंपनी को लैब स्थापित करने में दिक्कतें आ रही हैं।
अंता क्षेत्र के 27 माध्यमिक व उच्च माध्यमिक स्कूलों में आईसीटी लैब स्थापित करनी है। इसको लेकर विधायक स्थानीय क्षेत्रीय विकास योजना के तहत विधायक कोष से 20 लाख 45 हजार रुपए दिए थे। सके बाद लैब स्थापित करने के लिए अनुबंधित कंपनी के प्रतिनिधि कुछ स्कूलों में पहुंच गए लेकिन वहां आईसीटी लैब कक्ष ही नहीं है। एक दो जगहों कक्षा-कक्षों की कमी के कारण आईसीटी लैब वाले कक्षों में कक्षाएं चलती हैं।
फिलहाल होगी वैकल्पिक व्यवस्था
जिन स्कूलों में कक्षा-कक्षों की कमी है। या लैब के मुताबिक कक्ष नहीं बने हुए हैं। वहां पर फिलहाल अन्य कमरों में कम्प्यूटर स्थापित किए जाएंगे। जिन स्कूलों मेंं आईसीटी लैब कक्ष नहीं है। वहां पर कक्षों का निर्माण शुरू करवा दिया है।
3 लाख 3 हजार में तैयार होगी लैब
विधायक कोष से 27 स्कूलों के लिए प्रति स्कूल 75 हजार 750 रुपए दिए थे। लैब निर्माण के लिए 75 प्रतिशत राशि सरकार खर्च करेगी। यानि प्रत्येक स्कूल में 3 लाख 3 हजार रुपए से लैब का निर्माण होगा।
यह होगी विशेषता
समसा के अधिकारियों का कहना है कि प्रत्येक आईसीटी लैब में 14 कम्प्यूटर, एक प्रोजेक्टर, यूपीएस जयपुर से आएगा। इसके अलावा फर्नीचर, पर्दे, एसी के लिए राशि जयपुर से आई। उन्होंने कहा प्रदेश भर की आईसीटी लैब के लिए 150 करोड़ रुपए का टेन्डर कम्प्यूटर खरीदने के लिए हुआ है।
इन स्कूलों में बनेगी आईसीटी लैब
उच्च माध्यमिक स्कूल बैगना, मऊ, मियाड़ा, कोटड़ी सूडा, बड़ा, खेराली, तुलसा, थामली, बमोरीकला, ईश्वरपुरा, माल बमोरी, नारेला, मेलपुर, हिंगोनिया, किशनपुरा, शाहपुरा, जलोदा तेजाजी, उदपुरिया, काचरी, सोरखड़ा कला, नियाणा, जयनगर, ठिकरिया आदि स्कूल शामिल हैं।
27 स्कूलों में आईसीटी लैब स्थापित करने के लिए अनुबंधित कंपनी के प्रतिनिधि आ गए हैं लेकिन कुछ स्कूलों में आईसीटी लैब कक्ष नहीं है।
हरिमोहन गालव, अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक, समसा, बारां

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned