अधूरी रही रोडवेज की आस

अधूरी रही रोडवेज की आस

Shiv Bhan Singh | Publish: Nov, 10 2018 06:20:08 PM (IST) Baran, Baran, Rajasthan, India

हाल यह रहे कि त्योहारी सीजन में भी यात्रीभार 66 प्रतिशत से ऊपर नहीं पहुंचा। जबकि सामान्य दिनों में यात्री भार औसतन 80 से 85 प्रतिशत तक पहुंच

त्योहार पर भी नहीं मिला यात्री भार, घाटे से कैसे पड़ेगी पार
धनतेरस व दीपावली पर रहा सूखा
बारां. धनतेरस व दीपावली पर अच्छे यात्री भार की उम्मीद धराशायी हो गई। त्योहार के दिनों में राजस्व की आस में रोडवेज प्रबंधन ने परिचालकों पर नकेल कसने के लिए कई मार्गों पर चैक पोस्ट भी स्थापित की थी, लेकिन फिर भी दामन खाली रहा। हाल यह रहे कि त्योहारी सीजन में भी यात्रीभार 66 प्रतिशत से ऊपर नहीं पहुंचा। जबकि सामान्य दिनों में यात्री भार औसतन 80 से 85 प्रतिशत तक पहुंच जाता है।
हालांकि शुक्रवार को ग्रामीण रूटों की बसों के यात्री भार का ग्राफ बढ़ गया। बारां जिले में सरकारी व निजी नौकरियों में कार्यरत ज्यादातर लोग अन्य जिलों या प्रदेश के हैं। धनतेरस व दीपावली पर वे अपने-अपने घर जाते हैं। ऐसे में रोडवेज बसों में भीड़ रहती है। इस बार भी धनतेरस व दीपावली पर बसों में अच्छे यात्री भार की उम्मीद से रोडवेज मुख्यालय के आदेश पर एक माह पहले से ही चार जगहों पर चैक पोस्टे लगाई गई थी, जो 12 नवम्बर तक लगाई जाएंगी। लेकिन हालात यह है कि त्योहारी सीजन होने के बावजूद बसों में यात्री भार अन्य दिनों से भी कम रहा। जिले में बटावदा, बड़ां की बावड़ी, अटरू रोड स्थित दाता साहब चौकी व कलमंडा गांव में चैक पोस्टें लगाई गई हैं।
15 बस व 40 परिचक्र निरस्त
धनतेरस से पहले जयपुर, इंदौर, जोधपुर, भरतपुर सहित लम्बी दूरी की बसों में यात्री भार ठीक था। इस दौरान जिले में कोटा-बारां, ग्रामीण रूट सहित अन्य रूटों पर चलने वाली बसों में यात्री भार काफी कम था, लेकिन दीपावली के नजदीक आते ही लम्बे रूटों पर यात्री भारभार कम हो गया। ऐसे में रोडवेज के अधिकारियों को 7 व 8 नवम्बर को 15 गाडिय़ों व 40 परिचक्र को निरस्त करना पड़ा।
झालवाड़ रूट की बसों में भीड़
लम्बे इंतजार के बाद शुक्रवार को रोडवेज बसों में दोपहर के समय भीड़ दिखाई दी। सबसे ज्यादा भीड़ झालावाड़ रूट की बसों में देखी गई। कई बसों में पैर रखने की जगह तक नहीं थी। ऐसे में यात्रियों को खड़े खड़े सफर करना पड़ा। कुछ यात्रियों को दूसरी बस के इंतजार में बस स्टैंड पर देखा गया। इस दौरान लोक परिवहन बसों में भीड़ नजर आई। लोक परिवहन बसों ने मता से अधिक सावारियां बसों में ठूंस कर अच्छा मुनाफा कमाया।
& बसों की जांच के लिए चार जगहों पर चैक पोस्टें लगाई थी लेकिन फिर भी धनतेरस व दीपावली पर यात्री भार कम रहा। अब सामान्य दिनों की तरह यात्रीभार बढऩे लगा है, लेकिन त्योहार फीका रहा है।
हेमंत शर्मा, मुख्य प्रबंधक, रोडवेज डिपो, बारां
रिपोर्ट - हंसराज शर्मा द्वारा
----------------------

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned