मौत के गड्ढों में तीन घायल

मौत के गड्ढों में तीन  घायल

Hansraj Sharma | Publish: Mar, 17 2019 08:11:09 PM (IST) Baran, Baran, Rajasthan, India

बारां से अन्ता होकर कोटा की ओर जाने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग गहरे गड्ढों की भरमार के चलते अब तक कई घरों के चिराग बुझा चुका है। दर्जनों लोग गंभीर रूप से घायल एवं अपाहिज हो गए

बारां-कोटा नेशनल हाई-वे
न मरम्मत हो रही न ही नई परत चढ़ रही
अन्ता. बारां से अन्ता होकर कोटा की ओर जाने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग गहरे गड्ढों की भरमार के चलते अब तक कई घरों के चिराग बुझा चुका है। दर्जनों लोग गंभीर रूप से घायल एवं अपाहिज हो गए। इसके बावजूद किसी अधिकारी अथवा जन प्रतिनिधि का ध्यान इस मौतके मार्ग पर नहीं है। वहीं आश्चर्य की बात यह है कि जानलेवा राष्ट्रीय राजमार्ग होने के बावजूद टोल की वसूली बदस्तूर जारी है।
रविवार को इस संवाददाता के सामने ही बमूलिया कला गांव के पास मोटरराइज्ड ट्राई साइकिल पर सवार एक अपाहिज युवक सहित तीन जने इस मार्ग के एक गड्डे में संतुलन बिगड़ जाने से सडक़ पर जा गिरे। इस दुर्घटना में बारां निवासी मुकेश बंसल एवं इसके साथ जा रहे पड़ोसी सेवानिवृत अध्यापक हरिमोहन शर्मा तथा उनकी पुत्री सुनीता शर्मा खून से लथपथ हो गए। जिन्हें बाद में एम्बुलेन्स की सहायता से बारां चिकित्सालय भेजा गया। शर्मा के अनुसार बाइक की गति अत्यंत धीमी होने के बावजूद अचानक आए गड्ढे से उनकी जान पर बन आई। हालात इतने विकट हैं कि जगह-जगह हो रहे सैंकड़ों गड्ढों के कारण इस मार्ग पर वाहनों का निकलना अब मुश्किल हो चला है।
एक-एक फीट हैं गहरे
कई गड्ढें़ तो एक-एक फीट तक गहरे एवं लगातार हैं। ऐसे में इनकी चपेट में आने के बाद कई कारों के तो चक्के ही निकल जाते हैं। भारी वाहन चालकों द्वारा अचानक ब्रेक लगा देने से पीछे आते अन्य वाहन चालक अपने को बचा नहीं पाते। पिछले दिनों जिला कलक्टर ने हाइवे के इन गड्ढों का पेचवर्क शीघ्र शुरू किए जाने की बात कही थी। किन्तु नतीजा अब भी ढाक के तीन पात है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned