फेरों के बाद परीक्षा, फिर ली विदाई

फेरों के बाद परीक्षा, फिर ली विदाई

Hansraj Sharma | Publish: May, 17 2019 09:01:44 PM (IST) Baran, Baran, Rajasthan, India

बेटी पढ़ेगी तभी तो आगे बढ़ेगी। इस स्लोगन को साकार करते हुए। अटरू क्षेत्र के कुन्जेड़ गांव निवासी आरती वैष्णव ने शुभ मुहूर्त में सात फेरे को लिए, लेकिन बाबुल का आंगन बारां में परीक्षा देने के बाद ही छोड़ा।

लोगों को ऐसे समझाया पढ़ाई का महत्व
बारां. बेटी पढ़ेगी तभी तो आगे बढ़ेगी। इस स्लोगन को साकार करते हुए। अटरू क्षेत्र के कुन्जेड़ गांव निवासी आरती वैष्णव ने शुभ मुहूर्त में सात फेरे को लिए, लेकिन बाबुल का आंगन बारां में परीक्षा देने के बाद ही छोड़ा। उसके इस जज्बे की कस्बे समेत आसपास के क्षेत्र में खासी चर्चा रही। आरती का विवाह कोटा के प्रेम नगर निवासी महेन्द्र वैष्णव के साथ हुआ गुरुवार रात्रि को अन्ता में आयोजित सम्मेलन में हुआ था। दुल्हन आरती एमए प्रवेश की परीक्षा दे रही थी। उसका आज पेपर होने के कारण सुबह फैरो की रस्म के बाद यहां राजकीय कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय पहुंच कर सुबह सात बजे पेपर दिया। इस दौरान दूल्हा महेन्द्र भी साथ पेपर दिलवाने आया। सुबह दस बजे पेपर देने के बाद वापस अन्ता पहुंच कर सम्मेलन स्थल शेष वैवाहिक रस्मों की अदायगी की। इसके बाद वह ससुराल के लिए विदा हुई। पूरे सम्मेलन में आरती के इस निर्णय की सराहना की गई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned