दिनभर छूटती रही सर्दी से धूजणी, रात को जल्द ही बंद हो गए बाजार

सर्द हवाओं के चलते लोग धूप का आनंद भी नहीं उठा सके। बारां में अधिकतम तापमान २२ व न्यूनतम तापमान ५ डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार जिले के लोगों को सर्दी से राहत मिलने के २६ दिसम्बर तक कोई आसार नहीं है। इस दौरान न्यूनतम तापमान ४ से ५ डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना जताई जा रही है।

By: Ghanshyam

Published: 17 Dec 2020, 08:02 PM IST

बारां शहर समेत जिले में गुरुवार को सर्दी का सितम से लोग सहमे रहे। सुबह देर से उठने के बाद रात को जल्द बिस्तरों में जा दुबके। बाजारों में रात आठ बजे बाद सन्नाटा पसर गया। दोपहर को निकली धूप भी बेअसर रही। सर्द हवाओं के चलते लोग धूप का आनंद भी नहीं उठा सके। बारां में अधिकतम तापमान २२ व न्यूनतम तापमान ५ डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार जिले के लोगों को सर्दी से राहत मिलने के २६ दिसम्बर तक कोई आसार नहीं है। इस दौरान न्यूनतम तापमान ४ से ५ डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना जताई जा रही है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार गुरुवार रात से तापमान ३ से ५ डिग्री सेल्सियस के आसपास पहुंच सकता है। जिले में का इतना कम तापमान पूर्व में शायद ही रहा हो।

फिर पड़ता है फसलों में पाला
उपनिदेशक कृषि विस्तार अतीश कुमार शर्मा ने बताया कि फसलों के लिहाज से वर्तमान में तापमान अनुकूल है। लेकिन यह तापमान ४ डिग्री सेल्सियस से नीचे गया और इस दौरान हवा बंद रही तो धनिया समेत अन्य फसलों में पाला पडऩे की सभावना से इनकार नहीं किया जा सकता।

किसान यह बरतें सावधानी
उपनिदेशक शर्मा ने किसानों को खेतों की नियमित निगरानी करने के साथ तापामन और भी गिरने तथा इस दौरान हवा के वेग थमने पर फसलों को पाला से बचाने के लिए हल्की सिंचाई के साथ खेतों की मेड़ पर धुआं करने के साथ एक कृषि अधिकारियों व पर्यवेक्षकों की सलाह से सल्फ्यूरिक एसिड (व्यापारिक सल्फर) के निर्धारित मात्रा में खेतों में छिड़काव करने की अपील की है।

Ghanshyam Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned