पलटा मौसम, अंधड़, बूंदाबांदी व ओले,बारां शहर में तीन घंटे से अधिक ठप रही विद्युत आपूर्ति

बारां. शहर समेत जिले में मंगलवार शाम अचानक तेज अंधड़ के साथ बूंदा-बांदी हुई। मौसम के मिजाज बदलने से सामान्य जनजीवन पर खासा असर पड़ा।

By: Shivbhan Sharan Singh

Published: 16 May 2018, 04:06 PM IST

बारां. शहर समेत जिले में मंगलवार शाम अचानक तेज अंधड़ के साथ बूंदा-बांदी हुई। मौसम के मिजाज बदलने से सामान्य जनजीवन पर खासा असर पड़ा। कहीं जगह तेज आंधी से टीन-टप्पर भी उड़ गए। शहर में शाम करीब साढ़े चार तेज हवा चली, जो कुछ ही पल में आंधी में बदल गई। इस दौरान विद्युत वितरण निगम ने शहर की बिजली आपूर्ति रोक दी। इससे लोगों की परेशानी और भी बढ़ गई। करीब दो घंटे बाद अंधड़ व तेज हवाओं का दौर थमने पर शहर की विद्युत आपूर्ति बहाल हो सकी। इस दौरान कई दुकानों के बोर्ड धराशायी हो गए तो कहीं होर्डिंग्स व फ्लैक्स फट गए।
जहां थे वही थम गए
अंधड़ का वेग इतना तेज था कि जो लगा जहां थे, वही सुरक्षित स्थल तलाश थम गए। वाहनों के पहिए भी रुक गए। लोगों ने आंधी का दौर थमने के बाद लोगों व वाहन चालकों ने गंतव्य की ओर कूच किया। हालांकि इस दौरान यहां तेज बारिश के आसार भी बने, लेकिन मामूली बंूदा-बांदी होकर रह गई। अंधड़ के बाद लूूूूूूूूूू के गर्म थपेड़ों से राहत भी मिली। शाम छह बजे बाद शहर में कुछ देर तक हल्की बारिश भी हुई।
तीन घंटे बंद रही बिजली
शहर में मंगलवार शाम आंधी हवा चलने से विद्युत आपूर्ति लडख़ड़ा गई। कुछ जगह तार आपस में भिड़ गए तो अस्पताल जीएसएस पर जम्पर जल गए। बाद में शट-डाउन लेकर आपूर्ति बहाल की गई। इस दौरान तीन घंटे तक शहर के अस्पताल रोड, पुरानी सिविल लाइन, धर्मादा चौराहा, प्रताप चौक आदि विभिन्न क्षेत्रों की बिजली बंद रही। लोगों को परेशानी हुई।
आग से चारा व रेवडिय़ां जली
छबड़ा. क्षेत्र के खेड़ी गांव में मंगलवार शाम तेज आंधी के चलते नौलाइयों मेें लगाई आग खलिहानों तक पहुंचने से किसानों का चारा व करीब एक दर्जन रेवडिय़ां जल कर स्वाह हो गई। किसी ने मंगलवार को नौलाइयों में आग लगाई थी जो तेज आंधी के चलते किसान राहुल मीणा के खलिहान में पहुंच गई और वहां चार ट्रॉली चारा, कंडे, लकडिय़ां, खेती किसानी का सामान जल गया। बाद में आग बस्ती की और बढ़ जाने से एक दर्जन रेवडिय़ां जल गई। बाद में थर्मल पावर प्लांट की दमकल को सूचना दी। जो शाम तक साढ़े सात बजे तक मौके पर नहीं पहुंचने पर ग्रामीणों ने अपने स्तर पर आग को बस्ती तक पहुंचने से रोका। सूचना मिलने पर एसडीएम नेकराम नागर सहित कवाई पुलिस एवं कानूनगो व पटवारियों की टीम भी पहुंच गई थे। रात तक ग्रामीण आग पर काबू पाने का प्रयास करते रहे।
जनजीवन प्रभावित
शाहाबाद. कस्बे सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्र में मंगलवार दोपहर बाद बदले मौसम से जनजीवन प्रभावित हुआ। धूल भरी आंधी से घरों मकानों में कचरा भर गया वहीं कई घरों के टीन और होर्डिंग उड़ गए। इस बीच विद्युत आपूर्ति भी बाधित रही। कई जगह हल्की बूंदाबांदी हुई।
भंवरगढ़. कस्बे सहित आसपास के ग्रामीण अंचल में मंगलवार शाम तेज धूल भरी आंधियां चलने से जनजीवन प्रभावित हुआ। इस बीच हाइवे से गुजरने वालों को वाहनों की हेड लाइट जलाकर यात्रा करनी पड़ी। क्षेत्र के घट्टी एवं परानियां गांव में तेज अंधड़ के कारण कच्चे घरों के टीन टप्पर उड़ गए वही तेज आंधी तूफान से ग्रामीणों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।
मांगरोल. मंगलवार शाम तेज हवाओं व अंधड़ के साथ मामूली बूंदाबांदी हुई। जिससे लोगों को गर्मी से कुछ राहत मिली। अचानक मौसम खराब होने से बाजार में सन्नाटा छा गया और छतों पर खुले में रखा सामान, खलिहानों व घरों के बाहर खुले में रखा लहसुन भी भीग गया। अंधड़ से घरों में व दुकानों में धूल जमा हो गई। कुछ देर बूंदाबांदी हुई।
कोयला. कस्बे सहित क्षेत्र के गांवों में मंगलवार शाम आधे घंटे तक धूल भरी आंधी के साथ हल्की बारिश हुई। तेज हवा से मकानों के टीन टप्पर उड़ गए व पेडों की शाखाएं टूट गई।

Shivbhan Sharan Singh
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned