scriptभाया ने कहा-झूठे तथ्यों के आधार पर एफआईआर | bhaya gives statment on eligations | Patrika News
बारां

भाया ने कहा-झूठे तथ्यों के आधार पर एफआईआर

पूर्व मंत्री प्रमोद जैन भाया ने ढाई माह पूर्व कोतवाली थाने में स्वयं, पत्नी और अन्य के खिलाफ दर्ज प्रकरण को झूठे तथ्यों के आधार पर दर्ज करना बताया है। इस सम्बन्ध में उन्होंने पुलिस महानिदेशक और जिला पुलिस अधीक्षक को भी शिकायत की है।

बारांJun 20, 2024 / 11:46 pm

mukesh gour

पूर्व मंत्री प्रमोद जैन भाया ने ढाई माह पूर्व कोतवाली थाने में स्वयं, पत्नी और अन्य के खिलाफ दर्ज प्रकरण को झूठे तथ्यों के आधार पर दर्ज करना बताया है। इस सम्बन्ध में उन्होंने पुलिस महानिदेशक और जिला पुलिस अधीक्षक को भी शिकायत की है।

पूर्व मंत्री प्रमोद जैन भाया ने ढाई माह पूर्व कोतवाली थाने में स्वयं, पत्नी और अन्य के खिलाफ दर्ज प्रकरण को झूठे तथ्यों के आधार पर दर्ज करना बताया है। इस सम्बन्ध में उन्होंने पुलिस महानिदेशक और जिला पुलिस अधीक्षक को भी शिकायत की है।

पुलिस महानिदेशक और एसपी को की भाया ने शिकायत

बारां. पूर्व मंत्री प्रमोद जैन भाया ने ढाई माह पूर्व कोतवाली थाने में स्वयं, पत्नी और अन्य के खिलाफ दर्ज प्रकरण को झूठे तथ्यों के आधार पर दर्ज करना बताया है। इस सम्बन्ध में उन्होंने पुलिस महानिदेशक और जिला पुलिस अधीक्षक को भी शिकायत की है।
भाया ने शिकायत में कहा कि भाजपा पार्षद विजय पिपलानी ने जो एफआईआर दर्ज करवाई है, उसमें षड्यंत्रपूर्वक नगर परिषद के रेकॉर्ड और दस्तावेजों में कांटछांट और कूटरचना की गई है। चूंकि उनकी पत्नी लोकसभा चुनाव लड़ रही थी, इसलिए कुछ लोगों ने षड्यंत्र रचकर यह कार्रवाई की। उन्होंने दावा किया कि विवादित भूमि से उनका तथा उनके परिवार के सदस्यों का कभी सम्बन्ध नहीं रहा और न ही कभी बिक्री की गई। उन्होंने राजनीतिक दुर्भावनावश भाजपा के स्थानीय नेताओं पर कूटरचित दस्तावेज तैयार करने और असली दस्तावेज गायब कर एफआईआर दर्ज करने का आरोप लगाया। उन्होंने पुलिस महानिदेशक से इस मामले की निष्पक्ष जांच करवाने की मांग की। पूर्व विधायक पानाचंद मेघवाल, निर्मला सहरिया और कांग्रेस जिलाध्यक्ष रामचरण मीणा ने भी इस मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की। उन्होंने जिला पुलिस अधीक्षक पर अपराधियों से मिलीभगत के आरोप लगाए। दोनों पूर्व विधायक ने एसपी आफिस में तैनात एक पुलिसकर्मी पर अपराधियों और खनन माफियाओं से चौथ वसूली के आरोप लगाए।
गौरतलब है कि इस प्रकरण में पुलिस ने पिछले दिनों नगर परिषद के पूर्व सभापति कैलाश पारस के घर पर पूछताछ के लिए दबिश दी थी। पुलिस भाया और अन्य से भी पूछताछ करेगी।
किसी भी तरह के लगाए गए आरोप निराधार हैं, कानून अपना काम करता है। अवैध खनन के खिलाफ बड़ी कार्रवाईयों समेत लगातार कार्रवाईयां पुलिस द्वारा की जा रही है। कार्यालय में इनके द्वारा दिए गए परिवादों की जांच के लिए जांच अधिकारी को भेजकर निष्पक्ष जांच के लिए निर्देशित किया गया हैं।
राज कुमार चौधरी, पुलिस अधीक्षक, बारां

Hindi News/ Baran / भाया ने कहा-झूठे तथ्यों के आधार पर एफआईआर

ट्रेंडिंग वीडियो