scriptबारां शहर में शाम तक ब्लैकआउट : बिजली ने 16 घंटे रुलाया | Blackout in Baran city till evening: Electricity made people cry for 16 hours | Patrika News
बारां

बारां शहर में शाम तक ब्लैकआउट : बिजली ने 16 घंटे रुलाया

शहर के आधे हिस्से में गुरुवार तडक़े 3.10 बजे ऐसी बिजली ऐसी गई कि फिर वह शाम को 16 घंटे बाद 7.30 बजे बहाल हुई। इस दौरान लोग त्राहि-त्राहि कर उठे। लोगों ने जीभर के शहर के बिजली विभाग और इसके अधिकारियों को कोसा। हमेशा से ही बारां शहर में बिजली के हाल बेहाल रहते हैं। दिन में कई बार बिना चेतावनी बिजली का गुल होना तो आम बात है। लेकिन इस बार तो हद ही हो गई। इस दौरान लोगों का इस गर्मी में भीषण उमस के बीच रात काटना मुश्किल हो गया। इसका असर बाजार पर भी पड़ा। लंबे समय तक बिजली गुल होने से दुकानदारों के इनवर्टर, बैटरी बैकअप सब जवाब दे गए। इससे ग्राहकी पर भी असर पड़ा।

बारांJun 20, 2024 / 11:34 pm

mukesh gour

शहर के आधे हिस्से में गुरुवार तडक़े 3.10 बजे ऐसी बिजली ऐसी गई कि फिर वह शाम को 16 घंटे बाद 7.30 बजे बहाल हुई। इस दौरान लोग त्राहि-त्राहि कर उठे। लोगों ने जीभर के शहर के बिजली विभाग और इसके अधिकारियों को कोसा। हमेशा से ही बारां शहर में बिजली के हाल बेहाल रहते हैं। दिन में कई बार बिना चेतावनी बिजली का गुल होना तो आम बात है। लेकिन इस बार तो हद ही हो गई। इस दौरान लोगों का इस गर्मी में भीषण उमस के बीच रात काटना मुश्किल हो गया। इसका असर बाजार पर भी पड़ा। लंबे समय तक बिजली गुल होने से दुकानदारों के इनवर्टर, बैटरी बैकअप सब जवाब दे गए। इससे ग्राहकी पर भी असर पड़ा।

शहर के आधे हिस्से में गुरुवार तडक़े 3.10 बजे ऐसी बिजली ऐसी गई कि फिर वह शाम को 16 घंटे बाद 7.30 बजे बहाल हुई। इस दौरान लोग त्राहि-त्राहि कर उठे। लोगों ने जीभर के शहर के बिजली विभाग और इसके अधिकारियों को कोसा। हमेशा से ही बारां शहर में बिजली के हाल बेहाल रहते हैं। दिन में कई बार बिना चेतावनी बिजली का गुल होना तो आम बात है। लेकिन इस बार तो हद ही हो गई। इस दौरान लोगों का इस गर्मी में भीषण उमस के बीच रात काटना मुश्किल हो गया। इसका असर बाजार पर भी पड़ा। लंबे समय तक बिजली गुल होने से दुकानदारों के इनवर्टर, बैटरी बैकअप सब जवाब दे गए। इससे ग्राहकी पर भी असर पड़ा।

तडक़े से लोगों ने जीभर के शहर के बिजली विभाग और इसके अधिकारियों को कोसा

बारां. शहर के आधे हिस्से में गुरुवार तडक़े 3.10 बजे ऐसी बिजली ऐसी गई कि फिर वह शाम को 16 घंटे बाद 7.30 बजे बहाल हुई। इस दौरान लोग त्राहि-त्राहि कर उठे। लोगों ने जीभर के शहर के बिजली विभाग और इसके अधिकारियों को कोसा। हमेशा से ही बारां शहर में बिजली के हाल बेहाल रहते हैं। दिन में कई बार बिना चेतावनी बिजली का गुल होना तो आम बात है। लेकिन इस बार तो हद ही हो गई। इस दौरान लोगों का इस गर्मी में भीषण उमस के बीच रात काटना मुश्किल हो गया। इसका असर बाजार पर भी पड़ा। लंबे समय तक बिजली गुल होने से दुकानदारों के इनवर्टर, बैटरी बैकअप सब जवाब दे गए। इससे ग्राहकी पर भी असर पड़ा।
मशक्कत के बाद देर शाम को बहाल हुई बिजली

बारां. शहर में बुधवार रात हवा और बारिश के दौरान भूमिगत विद्युत लाइन में फाल्ट आने से चारमूर्ति के समीप स्थित विद्युत जीएसएस ठप हो गया। इससे करीब 16 घंटे तक जीएसएस से जुड़े सभी फीडर क्षेत्र की बिजली बंद रही। घंटों तक बिजली गुल रहने से इनवर्टर भी जवाब दे गए। इस दौरान उपभोक्ताओं को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। क्षेत्र में बिजली बंद रहने से पेयजल व्यवस्था भी प्रभावित रही। लोगों को पेयजल के लिए इधर-उधर से बंदोबस्त करना पड़ा। इससे लोगों में आक्रोश गहरा गया। दोपहर बाद से चारमूर्ति के समीप स्थित एईएन कार्यालय के समक्ष लोगों की भीड़ जमा हो गई। लोग विद्युत निगम के अधिकारियों को कोसते रहे। क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों को भी लोगों ने आड़े हाथों लिया।
फाल्ट का पता लगने के बाद भी उसे सीसी रोड की खुदाई कर तत्काल दुरूस्त करना संभव नहीं होते देख आनन-फानन में नागरिक बैंक के समीप से चारमूर्ति जीएसएस तक (दो पोल की लाइन) ओवरहैड लाइन बिछाने का काम शुरू किया गया। यहां पहले से निकल रही एलटी लाइन को खोलकर नीचे किया गया तथा उसके उपर नई 33 केवी की लाइन बिछाई गई। नए इंसूलेटर लगाए गए इस प्रक्रिया में चार घंटे से अधिक का समय लग गया। शाम करीब साढ़े सात बजे चारमूर्ति के समीप स्थित 33 केवी जीएसएस चालू हुआ। उसके बाद सम्बंधित फीडरों की विद्युत आपूर्ति बहाल की गई।
यह इलाके रहे प्रभावित

शहर में निगम की ओर से 33 केवी के चार जीएसएस चारमूर्ति, अस्पताल, नियाना व बाबजीनगर में बनाए हुए है। कोटा रोड स्थित प्रसारण निगम के 132 केवी जीएसएस से चारों 33 केवी जीएसएस को जोड़ा हुआ है। बुधवार मध्यरात्रि करीब 3 बजे चारमूर्ति जीएसएस ठप हो गया। इससे जुड़े चारमूर्ति चौराहा, स्टेशन रोड, प्रताप चौक, इन्दिरा मार्केट, सब्जीमंडी, राजपुरा वार्ड, मंडोला वार्ड, खजूरपुरा, लंका कॉलोनी, दशहरा मैदान, दीनदयाल पार्क, श्रीजी चौक, शीतला पाड़ा, चौमुखा बाजार, शास्त्री मार्केट तथा कोटा रोड पर गुरुद्वारा, नगरपालिका कॉलोनी व विवेकानन्द पार्क के आगे उसके आसपास का क्षेत्र बंद रहा।
कोटा से मंगवाई फाल्ट डिटेक्शन मशीन
निगम अधिकारियों का कहना है कि बुधवार रात चारमूर्ति चौराहा के समीप भूमिगत विद्युत केबल फाल्ट हो गई थी। इससे चारमूर्ति का जीएसएस ठप हो गया। इसका पता लगाने के बाद विद्युत कर्मचारियों ने सुबह करीब सवा सात बजे वैकल्पिक भूमिगत विद्युत लाइन जोड$कर जीएसएस चालू किया, लेकिन 10 मिनट बाद ही इस लाइन में भी फाल्ट आ गया ओर जीएसएस फिर ठप हो गया। इसका फाल्ट तलाशने के लिए कोटा से फाल्ट डिटेक्शन मशीन मंगवाई गई। इससे दोपहर में बस स्टैंड क्षेत्र में बारां नागरिक सहकारी बैंक मुख्य कार्यालय के समीप ट्रांसफार्मर से चारमूर्ति जीएसएस में अन्दर तक जा रही भूमिगत लाइन में फाल्ट होने का पता लगा।
शहर में आज 8.30 बजे से होगी जलापूर्ति

अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के जिला स्तरीय कार्यक्रम के कारण शहर में पेयजल आपूर्ति के लिए सुबह 6.30 से 7 बजे तक की जाने वाली विद्युत कटौती शुक्रवार को सुबह 8.30 से 9 बजे तक होगी। पेयजल आपूर्ति कार्यक्रम के बाद होगी। जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियंता आलोक कुमार गुप्ता ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 21 जून का आयोजन जिला स्तर, ब्लॉक स्तर एवं प्रत्येक ग्राम पंचायत स्तर पर प्रात: 7 से 8 बजे से किया जाएगा। कार्यक्रम में आमजन की अधिक से अधिक भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए प्रतिदिन होने वाली पेयजल आपूर्ति के समय में परिवर्तन कर प्रात: 8.30 बजे के बाद आपूर्ति की जाएगी।

Hindi News/ Baran / बारां शहर में शाम तक ब्लैकआउट : बिजली ने 16 घंटे रुलाया

ट्रेंडिंग वीडियो