करोड़ों खर्च फि र भी टूटी है सड़क

छबड़ा. कस्बे के मुख्य स्टेशन मार्ग पर स्थित सबसे व्यस्ततम धरनावदा चौराहा एवं गल्र्स स्कूल से पुलिस चौकी तक की क्षतिग्रस्त सड़क आम लोगों व वाहन चालकों के लिए सिरदर्द बन रही है । कस्बे के नागरिकों का कहना है कि नगर पालिका द्वारा चालू वित्तीय वर्ष में करोड़ों रुपए के निर्माण करवाने के दावे किए हैं इसके बावजूद मुख्य सड़कों व चौराहों पर गढड़़ों से परेशानी बनी हुई है ।

By: Mahesh

Published: 29 Mar 2019, 06:21 PM IST

छबड़ा. कस्बे के मुख्य स्टेशन मार्ग पर स्थित सबसे व्यस्ततम धरनावदा चौराहा एवं गल्र्स स्कूल से पुलिस चौकी तक की क्षतिग्रस्त सड़क आम लोगों व वाहन चालकों के लिए सिरदर्द बन रही है । कस्बे के नागरिकों का कहना है कि नगर पालिका द्वारा चालू वित्तीय वर्ष में करोड़ों रुपए के निर्माण करवाने के दावे किए हैं इसके बावजूद मुख्य सड़कों व चौराहों पर गढड़़ों से परेशानी बनी हुई है । धरनावदा चौराहा पर समालियान धर्मशाला के आसपास का समूचा रोड़ काफ ी समय से क्षतिग्रस्त हो रहा है । चौराहे पर बड़े गड्ढ़े व दरारें होने से हालत खस्ता होगई है।
कुछ माह पूर्व चौराहे की मरम्मत पर राशि व्यय करने के बाद भी मुख्य चौराहा पूरी तरह क्षतिग्रस्त होने से वाहन चालकों व आम नागरिकों को काफ ी परेशानी आ रही है। बारिश व मावठ की बारिश के दौरान क्षतिग्रस्त गड्ढ़े में पानी भरने से दुकानदारों व आम राहगीरों को काफ ी परेशानी आती है। स्टेशन रोड पर बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय से लौटा भैरू,जोगी मोहल्ला,अलीगंज बाजार सहित पुलिस चौकी तक मुख्य रोड़ की हालत खस्ता हो गई है। रोड़ पर बीचों बीच व साइडों में गड्ढ़े हो गए हैं जिसके चलते वाहन चालकों व सवारियों को दचकों से परेशान होना पड़ रहा है।
अहिंसा सर्किल से एसडीएम कार्यालय तक भी सीसी रोड़ की हालत खस्ता हो गई है। सर्वाधिक परेशानी दुपहिया वाहन चालकों, ऑटो व तांगों में सफ र करने वाली सवारियों को होती है।
नाली के चैेंंबर से हो रहे चोटिल
मुख्य रोड़ पर वाल्मिकी बस्ती के सामने नाली का गड्ढ़ा भी वाहन चालकों के लिये काफ ी सिर दर्द बना हुआ है।
नाली के आसपास रोड़ क्षतिग्रस्त है तथा नाली सफ ाई के लिए बनाया गया चेंबर नुमा गड्ढ़ा क्षतिग्रस्त होने व इस पर जाली या ढकान ना होने से काफ ी परेशानी आ रही है। दुपहिया वाहन इस गड्ढ़े में गिर कर आए दिन चोटिल हो रहे हैं ।
सड़क बन रही यात्रियों की आफत
बमोरीकलां . सीमावर्ती राज्य को जोडऩे वाली मांगरोल से सुरथाग तक सड़क के खड्डों में विभाग द्वारा गिट्टी के साथ साथ मिट्टी डालकर राहगीरों के राहत पहुंचाने का कार्य करवाया जा रहा है लेकिन ये राहत राहगीरों के लिए जोखिम भरी देखने को मिल रही है। सड़क पर गुजर रहे भारी वाहनों के दबाव के चलते गिट्टी सड़क पर फेलने से दुपहिया वाहन स्वामियों के लिए हर समय दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। इस 20 करोड़ की लागत से 13 किलोमीटर लंबी सड़क के टेंडर लगभग 8 माह पूर्व हो जाने के बाद भी नव निर्माण नहीं हो पा रहा है। ठेकेदार व विभाग की अनबन का खामियाजा इस ख़स्ता हाल सड़क पर यात्रा करके क्षेत्रवासियों को भुगतना पड़ रहा है। जिला मुख्यालय से आगरा, देहली, मथुरा, वृनदावन, भरतपुर, ग्वालियर, श्योपुर, बड़ोदा सहित कई महानगरों की दूरी कम पडऩे से लोग इसी सड़क के माध्यम से अपनी यात्रा करना अधिक पसंद करते हैं। लेकिन इस खस्ता हल सड़क को लेकर के लोगों का मोहभंग होने लग गया है। लगातार क्षेत्रवासियों की मांग के बाद भी सड़क के नवीनीकरण का कार्य शुरू नहीं करवाया जा रहा है। इस संदर्भ में विभाग के सहायक अभियंता गजानंद मीणा का कहना है कि खड्डों में राहत के लिए मरम्मत करवाई जा रही है। जल्दी ही एक सप्ताह बाद सड़क निर्माण का कार्य शुरू करवा दिया जाएगा।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned