प्रमुख सड़कों पर बनेंगे डिवाइडर

प्रमुख सड़कों पर बनेंगे डिवाइडर
detail-project-prepared-at-a-cost-of-2-crores

Ghanshyam Dadhich | Updated: 14 Jun 2019, 12:03:41 PM (IST) Baran, Baran, Rajasthan, India

शहर की प्रमुख सड़कों को संवारने के साथ इन आवाजाही सुगम करने के उद्धेश्य से उन पर डिवाइछर बनाने का कार्य शुरू कर दिया गया है। ऐसे में सड़कों के हालात सुधरने के साथ शहर का सौंदर्य भी निखरेगा। नगर परिषद के सभापति कमल राठौर ने जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों के साथ बैठक कर इसकी कार्ययोजना बनवाई थी।

बारां. शहर की प्रमुख सड़कों को संवारने के साथ इन आवाजाही सुगम करने के उद्धेश्य से उन पर डिवाइछर बनाने का कार्य शुरू कर दिया गया है। ऐसे में सड़कों के हालात सुधरने के साथ शहर का सौंदर्य भी निखरेगा। नगर परिषद के सभापति कमल राठौर ने जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों के साथ बैठक कर इसकी कार्ययोजना बनवाई थी। हलांकि सड़कों पर डिवाइडरों के निर्माण से पहले इनदिनों सीवरेज लाइनेंं बिछाने से कई प्रमुख सड़कें खुदी पड़ी है तथा इन पर आवाजाही में खासी मुश्किल हो रही है। इन दिनों धर्मादा चौराहे से प्रताप चौक क्षेत्र में लाइन बिछाने का काम चल रहा हैं।
गुरुवार को सभापति राठौर व उपसभापति गौरव शर्मा की अगुवाई में अन्य पार्षदों व परिषद अधिकारियों ने अस्पताल रोड, खजूरपुरा, दीनदयाल पार्क, शाहाबाद रोड, व मागरोल रोड का दौरा कर जायजा लिया। उन्होंने संवेदक कम्पनी को आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए। परिषद के सहायक अभियन्ता सुधाकर व्यास व जेईएन मानसिंह मीणा ने बताया कि शहर में व्यवस्था बनाने के लिए निर्देशानुसार लगभग 2 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले डिवाइडरों के लिए डिटेल प्रोजेक्ट तैयार किए गए हैं। शहर में अस्पताल रोड, मांगरोल रोड, शाहबाद रोड, दीनदयाल पार्क से खजूरपुरा से चारमूर्ति तक नए डिवाइडर बनाना समेत पुराने डिवाइडरों की मरम्मत व ऊंचे कर उन्हें जनसुविधा व शहर की सुन्दरता अनुसार भव्य बनाने की कार्य योजना बनाई गई है।

२० तक प्रवेश प्रक्रिया
बारां. राजकीय कन्या महाविद्यालय में स्नातकोत्तर उत्तराद्र्व की नियमित छात्राओं के आन लाइन प्रवेश नवीनीकरण की प्रक्रिया 20 जून तक पूरी हो जाएगी। पूर्वाद्र्व की नियमित छात्राएं स्नातकोत्तर उत्तराद्र्व में प्रवेश के लिए महाविद्यालय में वांछित प्रमाण पत्र उक्त अवधि में जमा करवा सकती हैं। आय प्रमाण के आधार पर फीस में किसी प्रकार की छूट देय होगी। यह प्रमाण
पत्र आवश्यक रूप से जमा
कराना होगा। ओबीसी नॉन क्रिमिलियर का प्रमाण पत्र शपथ के आधार पर 3 वर्ष तक मान्य होगा। ऐसी छात्राओं का परीक्षा परिणाम घोषित नहीं होने के बावजूद फीस जमा कराना आवश्यक होगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned