आखिर बरस ही गए मानसून राजा, शाहाबाद में छह इंच से अधिक बरसात... देखिए वीडिओ के साथ

MAHESH GOSWAMI | Publish: Jul, 26 2019 05:40:29 PM (IST) Baran, Baran, Rajasthan, India

लम्बे इन्तजार के बाद आखिर मानसून राजा दलबल के साथ जिले भर में बरस ही गए। कहीं छिटपुट तो कहीं मूसलाधार के साथ मेघों ने ऐसी मल्हार गाई कि लोग आल्हादित हो उठे । अकेले शाहाबाद इलाके में पिछले २४ घंटों के दौरान छह इंच से ज्यादा बारिश हुई

बारां लम्बे इन्तजार के बाद आखिर मानसून राजा दलबल के साथ जिले भर में बरस ही गए। कहीं छिटपुट तो कहीं मूसलाधार के साथ मेघों ने ऐसी मल्हार गाई कि लोग आल्हादित हो उठे । अकेले शाहाबाद इलाके में पिछले २४ घंटों के दौरान छह इंच से ज्यादा बारिश हुई। बारिश से किसानों की उम्मीदें लहलहा गई वहीं पलको नदी पानी से उछाल मारने लगी है। शाहाबाद और केलवाड़ा की कई बस्तियों में इतना पानी आ गया जैसे नदी बीच शहर में आ गई हो। शाहाबाद के पुल को बरसाती पानी छूने भर को है। आसपास के नालों में भी जबरदस्त उछाल आया है। शुक्रवार को बारां शहर में बूंदाबांदी ही हुई लेकिन तापमान में कमी आई है। शहर में अधिकतम तापमान २८ डिग्री रहा जब कि न्यूनतम तापमान २५ डिग्री रहा।आद्रता का स्तर ८७ फीसदी रहा। जिले के शाहाबाद, समरानिया, केलवाड़ा, भंवरगढ़,देवरी,गऊघाट, कस्बाथाना, पलायथा,किशनगंज, मांगरोल अन्ता इलाकों में पिछले २४ घंटों में अच्छी बरसात दर्ज की गई।
दुकानों व मकानों में भरा पानी, नदियों में उफान
शाहाबाद. कस्बे सहित आसपास के क्षेत्र में गुरुवार को शुरू हुआ बारिश का दौर शुक्रवार को भी जारी रहा। यहां गुरुवार को बीते 24 घंटों में 151 मिमी बारिश दर्ज हुई। जून से अब तक 58 0 मिमी बारिश हुई है। तड़के 3 से 5 बजे तक यहां मूसलाधार बारिश हुई। जिससे करीब दो दर्जन से अधिक मकानों व आधा दर्जन दुकानों में बरसात का पानी घुस गया। तड़के हुई बारिश के दौरान अधिकांश लोग सोए हुए थे। उसी दौरान घरों में पानी भर गया। वहीं स्वच्छ परियोजना परिसर में एक पेड़ गिर जाने से कस्बे की विद्युत आपूर्ति ठप हो गई। ऐसे में अंधेरे में ही लोग अपने सामानों को पानी से बचाने की जुगत करने लगे। कस्बे के नदिया मोहल्ला, सूरजपोल दरवाजा, जैन मंदिर क्षेत्र, व्यास जी की हवेली क्षेत्र सहित कई इलाकों में घरों में पानी भर गया तो नालिया क्षेत्र में तेज बहाव में दो बाइक बह गई जो आगे जाकर एक मकान की सीडी में अटकी मिली। तेज बारिश से कस्बे की प्रमुख सिरसा नदी में उफान आने से पुराने बस स्टैंड को हाइवे से जोडऩे वाले रास्ते पर करीब 6 घंटे तक आवागमन बंद रहा। वहीं नए बस स्टैंड की बड़ी पुलिया को भी पानी छूकर निकल रहा था। सूखा नाले, कुंडाखोह, माधो खोह, कुंडा खोह, पिंडासिल खोह सहित नदी नालों में आए उफान को देखने के लिए लोग पहुंचे।
मकान ढहा, छज्जा गिरा
शाहाबाद कस्बे के नदिया मोहल्ला स्थित हेमंत बैरागी का मकान बारिश में ढह गया। घटना के समय आसपास कोई मौजूद नहीं था। इस मकान को गाय बांधने तथा चारा रखने के उपयोग में लिया जा रहा था। वहीं शिक्षाकर्मी विद्यालय खंडा सहरोल में विद्यालय के अहाते की छत गिर गई।
नई लाइन में आया गंदा पानी
चारों और बारिश के कारण पानी-पानी हो गया वहीं लोगों को पीने के पानी के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। नारिया क्षेत्र में बिछाई गई नई लाइनों में गंदा पानी भरने से नलों से गंदा पानी आया। जिससे लोगों को दूर से पीने के पानी का जुगाड़ करना पड़ा।

नदी नाले आया उफान
समरानियां. समरानियां कस्बे सहित आस-पास के गांवों में रात भर बारिश होने से नदियों में उफान आ गया। जिससे कई गांवों के मार्ग बंद हो गए। जिससे लोग परेशान हुए। कस्बे के समीप सिरसौद कला गांव में बारिश से सीताराम मेहता के घर की छत अचानक से नीचे आ गई। सीताराम ने बताया कि वह परिवार के साथ मौजूद था। शुक्रवार सुबह अचानक मकान की छत नीचे आ गई। खतरा देख घर में मौजूद लोग जल्दी से बाहर निकल आ। छत गिरने से घर में रखा ट्रैक्टर दब गया तथा सामान व गेहूं खराब हो गया। छत गिरने के बाद लोगो की भीड़ जमा हो गई।

जनजीवन हुआ प्रभावित
केलवाड़ा . कस्बे सहित क्षेत्र में देर रात शुरू हुआ तेज बारिश का दौर लगातार जारी रहा। जिससे नदी-नालों में पानी की भरपूर आवक हुई। क्षेत्र के निचली बस्तियों में पानी घुसने से रातभर लोग परेशान रहे। क्षेत्र के खंडेला, माधोपुर, लक्ष्मीपुरा, जैसवां, सालेरी, सिलोरा, केदारकुई, खिरिया, हतवारी, पीपलखेड़ी समेत दर्जन भर गांव से केलवाड़ा कस्बे का संपर्क टूट गया। वहीं अमरोली, डबका, खेड़ला में शुक्रवार को बच्चों को खसरा रूबेला के टीके लगाए जाने थे। लेकिन भैसासुर नदी उफान पर होने से आवागमन में बाधा होने के कारण चिकित्सा टीम के नहीं पहुंच पाने पर यह कार्यक्रम स्थगित करना पड़ा।

नहीं हुए सूर्य देव के दर्शन
कस्बाथाना. क्षेत्र में लगातार तीन दिन से रूक रूककर बारिश का दौर जारी रहने से किसानों में खुशी है। ग्रामीण राजू भार्गव, पिंट, लवकुश, हेमराज, रिंकू भार्गव, कृष्णा भार्गव आदि ने बताया कि आसपास के क्षेत्रों में करीब 3 दिनों से सूर्य देव के दर्शन नहीं हुए हैं साथ ही आम रास्तों पर कीचड़ से वाहन चालक और राहगीरों को चलना मुश्किल हो गया है। क्षेत्र के कही नदी नाले उफान पर होने से लोगों को आने जाने में परेशानी हो रही है। बारिश के दौरान बिजली की आंख मिचौली भी जारी है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned