Baran..विरोध के नारों के साथ क्यों उछले कैले और पपीते

बारां.शहर के स्थानीय खुदरा फ ल व्यापारियों ने हड़ताल कर यहां फ ल सब्जी मंडी में जमकर नारेबाजी की। आढ़तियों द्वारा बाहर के माल पर 6 फीसदी आड़त लगाने का लोग विरोध कर रहे थे।
फ ुटकर फ ल फ्र्ूट व्यापार संघ के अध्यक्ष चंद्र मोहन सुमन ने बताया कि हम स्थानीय किसान के माल की नीलामी बोली पर आड़त दे रहे हैं। और देते रहेंगे। लेकिन बाहर से मंगवाए गए माल पर जब मुनाफ ा जोड़ लिया जाता है,तो उसमें आड़त किस बात की।

By: Shivbhan Sharan Singh

Updated: 03 Dec 2019, 03:03 PM IST

Baran..विरोध के नारों के साथ क्यों उछले कैले और पपीते

बारां.शहर के स्थानीय खुदरा फ ल व्यापारियों ने हड़ताल कर यहां फ ल सब्जी मंडी में जमकर नारेबाजी की। आढ़तियों द्वारा बाहर के माल पर 6 फीसदी आड़त लगाने का लोग विरोध कर रहे थे।
फ ुटकर फ ल फ्र्ूट व्यापार संघ के अध्यक्ष चंद्र मोहन सुमन ने बताया कि हम स्थानीय किसान के माल की नीलामी बोली पर आड़त दे रहे हैं। और देते रहेंगे। लेकिन बाहर से मंगवाए गए माल पर जब मुनाफ ा जोड़ लिया जाता है,तो उसमें आड़त किस बात की। इसी विवाद को लेकर फु टकर फ ल फ्र्ूट व्यापार संघ के करीब पांच दर्जन व्यापारियों ने यहां जमकर नारेबाजी कर अनिश्चितकाल के लिए व्यापार बंद कर दिया।
उन्होंने बताया कि इस मामले को लेकर 1 दिन पूर्व ही जिला कलक्टर व कृषि उपज मंडी के सचिव को लिखित में ज्ञापन दिया जा चुका है। फि र भी समस्या का कोई समाधान नहीं किया गया। उन्होंने चेतावनी देते कहा कि यदि शीघ्र समाधान नहीं किया गया तो कल से सब्जी विक्रेता भी इस हड़ताल में शामिल होंगे।
वहीं दूसरी ओर कृषि उपज मंडी समिति के सचिव मनोज मीणा ने बताया कि फु टकर व्यापारियों व थोक व्यापारियों को बुलवाकर वार्ता की जाएगी। जो भी उचित निर्णय होगा समाधान करवाया जाएगा।

Shivbhan Sharan Singh
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned