पीयूसी नहीं तो सर्विस नहीं, होगा जुर्माना, जल्द होगी पीयूसी प्रक्रिया ऑनलाइन

पीयूसी नहीं तो सर्विस नहीं, होगा जुर्माना, जल्द होगी पीयूसी प्रक्रिया ऑनलाइन

Shiv Bhan Singh | Publish: Mar, 14 2018 05:03:27 PM (IST) Baran, Rajasthan, India

पीयूसी नहीं लेने वाले वाहनों की सर्विस नहीं की जाएगी। पीयूसी की प्रक्रिया ऑन लाइन होने वाली है। परिवहन आयुक्त ने दिशा निर्देश भी दिए हैं।

बारां. वाहनों का प्रदूषण प्रमाण पत्र नहीं लेने वाले वाहन चालकों की खैर नहीं है। चालक को सर्विस सेन्टरों पर प्रदूषण की जांच कर अनिवार्य रूप से पीयूसी लेनी होगी। पीयूसी नहीं लेने वाले वाहनों की सर्विस नहीं की जाएगी। जल्द ही पीयूसी की प्रक्रिया ऑन लाइन होने वाली है। इस संबंध में परिवहन आयुक्त ने दिशा निर्देश भी दिए हैं।
वाहनों का प्रदूषण प्रमाण पत्र लेना आवश्यक है। ऑफ लाइन प्रक्रिया होने के कारण ज्यादातर वाहन चालक प्रमाण पत्र नहीं लेते हैं। न ही पुलिस व परिवहन विभाग ध्यान देते हैं लेकिन अब सर्विस सेन्टरों पर आने वाले प्रत्येक वाहनों की प्रदूषण की जांच की जाएगी। साथ ही मेट्रो सिटी की तर्ज पर जिले में भी पीयूसी लेने की प्रक्रिया ऑन लाइन शुरू होने वाली है। जिन वाहन डीलरों का वर्कशॉप है। वहां पर प्रदूषण जांच इकाई लगाना आवश्यक है। यहां सर्विस के लिए आने वाले प्रत्येक वाहन की प्रदूषण की जांच कर पीयूसी दी जाएगी। साथ ही नए बनने वाले डीलरों को भी प्रदूषण जांच इकाई स्थापित करनी होगी। उधर परिवहन विभाग को समय-समय पर प्रदूषण जांच इकाई की जांच करनी होगी, जिससे यह पता चल सके कि वाहन डीलर प्रदूषण की जांच करते हैं या नहीं करते हैं।
जिले में 64 डीलर
जिले में 64 वाहन डीलर हैं। इनमें 43 दुपहिया, 16 ट्ैक्टर व 5 कारों के वाहन डीलर हैं। इनमें कुछ ही वाहन डीलरों के पास वर्कशॉप है, जहां पर वाहनों की सर्विस होती है। इन डीलरों को प्रदूषण जांच केन्द्र का अधिकार पत्र परिवहन विभाग से लेना होगा।
यह है जुुर्माने का प्रावधान
जिन वाहनों ने प्रदूषण जांच प्रमाण पत्र नहीं लिया है। उन वाहनों पर जुर्माना लगाने का प्रावधान है। इनमें 250 दुपहिया व 1 हजार रुपए चौपहिया वाहनों पर जुर्माना लगाया सकता है।
& प्रदूषण जांच प्रमाण पत्र लेने की प्रक्रिया जल्द ही ऑन लाइन होने वाली है। साथ ही जिन डीलरों का सर्विस सेन्टर है। उन डीलरों को सर्विस सेन्टर पर प्रदूषण जांच इकाई लगानी होगी। यहां आने वाले प्रत्येक वाहन की प्रदूषण की जांच कर पीयूसी देनी होगी।
अनिल कुमार, परिवहन निरीक्षक, जिला परिवहन विभाग, बारां

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned